दोस्त की बहन की रसभरी जवानी

दोस्त की बहन की रसभरी जवानी

 

प्रेषक : प्रकाश …

हैल्लो दोस्तों, मेरा दोस्त विकास एक सरकारी कर्मचारी है और उसके दो बहनें है, वो दोनों उससे छोटी है। एक का नाम मीता है और दूसरी का नाम सोनी है। सोनी लॉ की स्टूडेंट है, वो 20 साल की मस्त और जवान लड़की है और काफ़ी फ्रेंक है और सेक्स तो उसमें लबालब भरा हुआ है। विकास पहली क्लास से मेरे साथ पढ़ता आया है, वो काफ़ी स्मार्ट और गुड लुकिंग है। में अक्सर उनके घर आता जाता था और सोनी मुझे भैया कहती थी। हम दोनों में मज़ाक भी चलती थी और सब नॉर्मल था।

फिर एक दिन घर पर सोनी अकेली थी, तो में उनके घर चला गया। अब सोनी काफ़ी खुश थी, फिर उसने चाय बनाई और वहीं सोफे पर मेरे साथ बैठ गयी। अब में उसकी जवानी देखकर पागल हो रहा था और मेरा दिल चाहता था कि इसको दिल भरकर चोदता रहूँ। अब टी.वी ऑन थी और टी.वी पर स्टार मूवी चैनल लगा हुआ था। अब वो कोई इंग्लिश मूवी देख रही थी। फिर तभी उसने मुझसे पूछा कि जॉब लग गयी? तो में बोला कि हाँ। फिर वो बोली कि अब शादी के लिए कोई लड़की ढूंढ लो, तो में बोला कि मेरे घरवाले ढूंढ लेंगे। फिर वो बोली क्या घरवालों की लाई हुई लड़की से शादी करोगे? तो में बोला कि हाँ, तो वो बोली कि हमें भी थोड़ी मदद हो जाएंगी। फिर में बोला कि तुमने ढूँढ लिया क्या? तो वो बोली कि हाँ, तो में बोला कि कौन है? तो वो बोली कि वो मेरे साथ कॉलेज में पढ़ता है। फिर में बोला कि अच्छा, लेकिन थोड़ा सोच विचार कर लेना कहीं बाद में पछताओ।

फिर वो बोली कि वो बहुत अच्छा है और फिर वो बोली कि आप भी कोई लड़की ढूंढ लो, तो में बोला कि कोई लड़की पटी ही नहीं। तो वो बोली कि आप इतने हैंडसम हो तो कोई भी लड़की आपकी गर्लफ्रेंड बन जाएंगी और फिर वो बोली कि जब तक नहीं मिलती में आपकी गर्लफ्रेंड बन जाती हूँ और फिर वो मुझसे हाथ मिलाने लगी। फिर में बोला की नहीं, तो वो बोली कि क्यों? तो में बोला कि ऐसे थोड़ी गर्लफ्रेंड बनती है। अगर मेरी गर्लफ्रेंड होती तो बहुत से चीज़े होती, में उसे हग करता। फिर वो बोली कि ओके तुम मुझे हग कर लो, वो बहुत फ्रेंक थी तो मैंने उसे बड़े आराम से हग किया। फिर मैंने उसे गले लगाते हुए ही कहा कि मेरी गर्लफ्रेंड मुझे किस करती, तो उसने मेरे गाल पर एक प्यारा सा किस किया। अब मेरे लंड महाशय तो खड़े होने की तैयारी करने लगे थे। फिर में बोला कि वो मुझे लिप किस करती और फिर मैंने उसके होंठो पर अपने होंठ रख दिए, तो वो थोड़ी घबराई, लेकिन मैंने उसे नहीं छोड़ा।

अब में अपने एक हाथ से उसकी टी-शर्ट के ऊपर से उसकी चूची दबा रहा था, तो दूसरे हाथ को उसकी गांड पर फैर रहा था। अब वो गर्म हो रही थी और उसकी साँसे भर रही थी। फिर हमने 5 मिनट तक किस किया और फिर वो अपने बेडरूम की तरफ चली गयी और बेडरूम का दरवाजे के पास पहुँचकर पलट कर देखा, तो में समझ गया कि ये अब चुदेगी। फिर में कमरे में चला गया और उसे अपनी बाहों में लेकर किस करने लगा और उसकी टी-शर्ट उतार दी, अब वो ब्रा और जीन्स में थी। फिर मैंने उसकी जीन्स भी खोल दी और अब वो सिर्फ़ पिंक कलर की ब्रा पेंटी में थी और उसका रंग थोड़ा हल्का गोरा था, जैसे बिपाशा का कलर और उसके बूब्स बहुत ही बड़े थे, मतलब उसकी उम्र के हिसाब से। फिर मैंने अपने कपड़े उतारे और उसे बेड पर लेटा दिया और उसकी ब्रा और पेंटी उसके शरीर से अलग कर दी। वो तो बिल्कुल हुस्न की देवी थी और उसके बूब्स, ओह बिल्कुल गोलाई में एकदम शानदार थे और उसकी चूत के तो क्या कहने थे? मैंने ऐसी चूत पहले कभी नहीं देखी थी, बिल्कुल भी कोई निशान नहीं, कोई बाल नहीं और इतनी मुलायम और गुलाबी थी कि मेरी जीभ लप लपा रही थी। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर मैंने 69 की पोजिशन बनाई और अब वो मेरे लंड को आइसक्रीम की तरह चूसने लगी थी और में उसकी चूत को सारी उम्र चाटने की सोच-सोचकर उसकी चूत में अपनी जीभ घुसा रहा था। अब वो तड़प रही थी और अब में अपने फुल जोश में था। अब वो मेरे लंड के टॉप पर अपनी जीभ से राउंड बना रही थी और अब हम दोनों के लिए रुकना बहुत मुश्किल था। फिर वो बोली भैया अब सहा नहीं जाता, अब चोद दो ना। फिर में बोला कि हाँ और क्या तुझे बिना चोदे छोड़ दूँगा? में आज तेरी चूत को फाड़ दूँगा। तो वो बोली कि ये तो आपके लंड के लिए तड़प रही है। फिर मैंने उसे मिशनरी पोजिशन में लेटाया और अपने लंड का टोपा उसकी चूत पर 2-3 बार रगड़ा। अब वो बार-बार अपनी गांड ऊपर उठा रही थी।

फिर मैंने उसकी चूत पर अपना लंड रखकर एक हल्का सा झटका दिया तो मेरा लंड हल्का सा अंदर गया। उसकी चूत बहुत टाईट थी और फिर मैंने 3-4 अच्छे धक्के मारे तो तब जाकर मेरा लंड अंदर गया। अब वो दर्द से कसमसाने लगी थी, अब वो मेरा पूरा साथ दे रही थी और अपनी गांड उठा-उठाकर मेरे हर धक्के में मेरा साथ दे रही थी। फिर हमने करीब 20 मिनट तक चुदाई की। फिर अचानक से डोर बेल बजी, अब दरवाजे पर विकास था, तो हमने अपने-अपने कपड़े पहने और में जाकर ड्रॉईग रूम में बैठ गया। फिर सोनी दरवाज़ा खोलने चली गयी, तो विकास बोला कि इतनी देर क्यों लगा दी? अब मैंने अपने कान में ईयर फोन लगा रखा था, तो सोनी बोली कि में कपड़े चेंज कर रही थी, तो में बोला कि मुझे ईयर फोन लगा होने की वजह से सुनाई नहीं दिया। अब उस टाईम तो हम बच गये थे, लेकिन विकास को शक हो गया था।

फिर एक दिन उसने हम दोनों को देख लिया, तो फिर हमने उसे भी इसमें शामिल कर लिया। अरे यार जब सोनी जैसी जवानी कोई बुढा, बाबाजी और कोई भी देख ले तो वो नहीं रुक सकता और विकास तो एक आम लड़का है ।।

धन्यवाद …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com