पटियाला का पटोला 1

प्रेषक : राज

हाय दोस्तों. यह मेरी इस पर पहली कहानी है अगर पसंद आये तो इसे शेयर ज़रुर करना. में पंजाब के जांलधर मे रहता हूँ और पार्ट-टाइम कॉलबॉय का काम भी करता हूँ और मेरी उम्र 26 साल है बात उन दिनो की है जब में पंजाबी यूनिवर्सिटी पटियाला मे पढ़ता था। हमारी यूनिवर्सिटी मे स्टूडेंट्स के लिये इंटरनेट बिल्कुल फ्री था और हर स्टूडेंट इसका भरपूर फ़ायदा उठाता था कोई गाने डाउनलोड करता था तो कोई मूवी डाउनलोड करता था तो कोई चैटिंग करता था में भी उनमे से एक था।

में सेक्स का बहुत शौकीन था शुरू से ही में इंटरनेट पर चैटिंग इसलिये करता था की कोई ऐसी लड़की मिल जाये जिसकी सेक्स मे रूचि हो पर कोई नही मिल पा रही थी और अब में चैटिंग करके बोर हो चुका था और इसलिये मैने वो करना बन्द कर दी थी। जैसे की मैने आपको पहले बताया की में सेक्स का बहुत शौकीन था शुरू से ही मगर कई कोशिश के बाद भी में सेक्स का मजा नही ले पा रहा था। ऐसी कोई लड़की नही मिल पा रही थी जो मुझसे सेक्स करने को तैयार हो एक दिन में वैसे ही अपने रूम मे लेटा था। की तभी मुझे आइडिया आया की क्यों ना इंटरनेट पर सर्च की जाये शायद पटियाला सिटी मे कोई ऐसी लड़की हो।

मैने तुरंत अपना लेपटॉप चालू किया और गूगल मे सर्च करने लग गया और उनमे लड़कियाँ और आंटी खोजने लगा जो पंजाब की हो पहले तो 2-3 बार मे कोई ख़ास रिज़ल्ट नहीं मिला मगर फिर एक दिन से मुझे एक वेबसाइट पर 1 मेसेज मिला वो मेसेज किसी सिमरन नाम की लेडी का था जिसकी उम्र 30 साल थी। उसकी सेक्स में रूचि थी और उसे 20 से 30 उम्र के लडको की तलाश थी उसने अपना ई-मैल एड्रेस भी दिया था मैने तुरंत उस ई-मैल एड्रेस पर मैल कर दी और फिर उसके रिप्लाई का वेट करने लग गया अगले दिन जब मैने अपनी मैल चेक की तो में बहुत ज़्यादा खुश हो गया मैने जल्दी से उसका मैल पढ़ा जिसमे उसने मुझसे अपनी फोटो और कुछ जानकारी माँगी थी मैने तुरंत अपनी फोटो और अपने बारे मे लिखकर उसे मैल कर दी और उसके रिप्लाई का वेट करने लग गया.

शाम को जब मैने अपनी मैल चेक की तो उसका रिप्लाई आया था जिसमे उन्होंने अपनी फोटो और अपने बारे मे और बातें बताई थी में उसकी फोटो देखकर हैरान रह गया वो दूध से भी ज़्यादा सफेद थी और उसकी लम्बाई भी 5.3″ की थी उसके बाल लम्बे थे और उसने पटियाला सूट पहना था वो किसी अप्सरा से कम नही लग रही थी मैने उसकी फोटो पर कमेंट दिया नेक्स्ट दिन उसका रिप्लाई आया जिसमे उसने अपना फोन नंबर दिया था और मुझे रात 9 बजे फोन करने को बोला था मैने उसी रात लगभग 9.10 बजे पर उसे फोन किया दोस्तो उसकी आवाज़ इतनी मीठी थी और उसने बहुत प्यार से बात की उस टाइम हम करीब 20 मिनिट तक बात करते रहे जिस दिन उससे मेरी बात हुई उस दिन शुक्रवार था और 2 दिन बाद रविवार तो उसने मुझे एक रेस्टोरेंट मे मिलने को बुलाया।

में रविवार को अच्छे से तैयार होकर उसके बताये रेस्टोरेंट पर पहुँच गया और उसका वेट करने लगा थोड़ी देर बाद उसका मुझे फोन आया की में कहा हूँ मैने उसे बताया की में यहाँ बैठा हुआ हूँ करीब 5 मिनिट बाद बाहर एक इंडिका कार आकर रुकी जिसमे से एक बहुत ही सुन्दर लेडी उतरी जिसने पीले रंग का पटियाला सूट पहना था और काला चश्मा लगाया था भरपूर बॉडी थी उसकी और 34-26-32 की फिगर रही होगी में तो बस देखता रह गया वो कार पार्क करके मेरी तरफ आई और मुझसे मेरा नाम पूछा जैसे ही मैने बताया वो बहुत खुश हुई और उसने हाथ मिलाने के लिये अपना हाथ मेरी तरफ बड़ा दिया उसके बहुत नरम और गोरे गोरे हाथ थे और दिल कर रहा था की ऐसे ही बस हाथ पकड़े रहूँ उसका मगर पब्लिक प्लेस होने की वजह से ऐसा करन ठीक नही था। वो मेरे सामने वाली सीट पर बैठ गई और बातें शुरू कर दी।

उसने अपने बारे मे बहुत कुछ बताया और उसने ये भी बताया की वो शादीशुदा है और उसका पति शादी के 4-5 दिन बाद ही इंग्लेंड चला गया था और करीब 2 साल हो गये हैं उसने कहा की वो शॉर्ट टर्म रीलेशन चाहती है और सेक्स के मज़े लेना चाहती है उसकी बातों से साफ पता चल रहा था की वो सेक्स के लिये बहुत तरस रही है करीब 2 घंटे बातें करने के बाद मैने लंच ऑर्डर किया और हमने साथ बैठ कर लंच किया उसने कहा की अब उसे जाना होगा क्योकी उसे किसी काम से जाना था में मान गया मगर उसने मुझे प्रॉमिस किया की नेक्स्ट छुट्टी वाले दिन वो मुझसे फिर मिलेगी और फोन करके बता देगी।

उसके बाद उसने मुझे अपनी कार मे मेरी यूनिवर्सिटी के बाहर छोड़ा और जाते टाइम उसने फिर किस किया और चली गई में भी अपने हॉस्टल के रूम मे आ गया और नहा धोकर खाना खाया रात को उसका फोन फिर आया जिसमे उसने मुझे बताया की नेक्स्ट शनिवार वो अपने ऑफीस से दिन की छुट्टी ले रही है और वो चाहती है की में उसके साथ आकर रहूँ 2 दिन वो खुद मुझे यूनिवर्सिटी से ले जायेगी और छोड़ भी जायेगी में मान गया और बेसब्री से शुक्रवार का इंतज़ार करने लग गया इसी दौरान पूरे सप्ताह वो मुझसे रोज़ रात को बहुत देर तक बात करती थी उसने शुक्रवार शाम मुझे फोन किया और कहा की में शाम 7 बजे लेने आऊंगी मैने उसके लिये कुछ चॉकलेट्स खरीदी और साथ मे कन्डोम के 2 पेकेट भी में 7 बजे यूनिवर्सिटी से बाहर पहुँच गया और वो भी अपनी कार मे 10-15 मिनिट मे आ गई.

में इधर उधर देखकर उसकी कार मे बैठ गया और उसने लाल कलर का सूट पहना था क्या मस्त लग रही थी वो मैने उसे फूल दिये और उसे चॉकलेट्स भी जिस से वो बहुत खुश हो गई उसके बाद हम उसके घर की तरफ चल पड़े तकरीबन 30 मिनिट के बाद उसका घर आ गया उसने अपनी कार पार्क कर दी और मुझे भी निकलने का इशारा कर दिया में जल्दी से निकल कर उसके घर मे चला गया और उसने दरवाज़ा बंद कर दिया और अंदर आते ही मेरे साथ लिपट गई और अपने किस करने लग गई मैने भी उसका भरपूर साथ दिया मैने उसके होंठ खूब अच्छी तरह से चूसे और से काटे और उसकी जीभ भी अपने मुँह मे लेकर किस करता रहा वो भी पूरी तरह से मेरा साथ दे रही थी करीब 10 मिनिट तक हम किस करते रहे हम दोनो ने मिलकर खाना बनाया और साथ बैठ कर खाया.

उसके बाद वो मुझे बेडरूम मे लेकर आई और कहा की में नहा कर आती हूँ 20 मिनिट के बाद वो नहाकर आई उसने ट्रान्सपरेंट गाउन पहना था जिसमे से उसकी ब्रा और पेंटी साफ नज़र आ रहे थे उसके बूब्स ऐसे थे की ब्रा से बाहर आने को कर रहे थे ये देखते ही मेरा लंड बिल्कुल खड़ा हो गया और ऐसा लग रहा था की अभी पेन्ट फाड़ कर बाहर आ जायेगा में उसे देखता ही रह गया और उसने कहा की बस देखते ही रहोगे या कुछ करोगे भी इतना सुनते ही में उसकी तरफ गया और फिर से किस करना शुरू कर दिया किस करते करते अब में उसे बेड पर ले आया और उसको और ज़ोर से किस करने लग गया और अपना हाथ उसके गाउन मे डालकर उपर से उसके बूब्स दबाने लगा और उसने अपना हाथ मेरे लंड पर रख दिया था और पेन्ट के उपर से सहलाने लगी करीब 15 मिनिट तक हम एक दूसरे को किस करते रहे.

उसके बाद मैने उसे अलग किया और उसका गाउन अलग कर दिया झट से उसका सफेद मखमली जिस्म मेरे सामने आ गया मेरी आँखें फ़टी की फ़टी रह गई इतने मे वो बोली मेरी प्यास भी बुझा दो आज बहुत तड़प रही हूँ में। और ना तडपावो मुझे पूरा मजा दो मुझे आज मगर में सब आराम से करना चाहता था। तभी उसने अपनी ब्रा और पेंटी खुद ही उतार दी और अपना सब कुछ मेरे सामने पेश कर दिया में उसके बूब्स देख कर हैरान रह गया बहुत ही सफेद थे और पूरी बॉडी मे एक भी बाल नही था चूत पर भी कोई बाल नही था बिल्कुल चिकनी चूत थी उसकी तभी मुझे एक आइडिया आया और मैने उससे पूछा की क्या घर मे शहद है उसने मुझे लाकर दिया और मैने अब उसको बेड पर लेट जाने का इशारा किया.

फिर मैने भी अपने सारे कपड़े उतार दिये कपड़े उतरते ही मेरा 7 इंच का लंड तन तनाता हुआ उसके सामने आ गया जिसे देख कर वो खुश भी हो गई और हैरान भी में भी अब बेड पर आ गया और शहद लेकर उसकी पूरी बॉडी पर लगाने लगा मैने उसकी पूरी बॉडी पर, टाँग पर, बूब्स पर, लिप्स पर, चूत मे हर जगह शहद लगाया और उसकी मालिश करने लगा इससे उसे बहुत मज़ा आ रहा था 15-20 मिनिट मालिश करने के बाद मैने उसे दोबारा किस करना शुरू कर दिया और अब मेरे दोनो हाथ उसके बूब्स पर थे और उनको ज़ोर ज़ोर से दबा रहे थे वो भी सिसकारियाँ ले ले कर मेरा लंड दबा रही थी किस करने के बाद में उसके बूब्स को चूसने लग गया। मेरा एक हाथ उसकी चूत के दाने को रगड़ रहा था और दूसरा हाथ उसके एक बूब को और में खुद उसके एक बूब को चूस रहा था शहद की वजह से मुँह मे मीठा स्वाद आ रहा था जिसकी वजह से और मज़ा आ रहा था।

एक बूब्स को चूसने के बाद मैने अब उसका दूसरा बूब्स भी मुँह मे ले लिया और खूब ज़ोर से चूसता रहा वो मेरे लंड को हाथ मे लेकर दबाती और मसलती रही में करीब आधे घन्टे तक उसके बोबो को चूसता और दबाता रहा ओर रुक रुक के बाते भी करता रहा जिससे वो बीच बीच में हल्का सा सिसक उठती थी अब में उसे किस करता हुआ जैसे ही उसकी चूत की तरफ जाने लगा उसने मुझे रोक लिया और एकदम से मेरा खड़ा लंड अपने मुँह मे ले लिया और भूखी शेरनी की तरह चूसने लग गई ज़ोर ज़ोर से मैने उसे थोड़ा धीरे करने को कहा क्योकी ये मेरा पहली बार था और मुझे तकलीफ़ हो रही थी.

उसने सॉरी कहा और आराम से लोलीपोप की तरह लंड को चूसती रही बीच बीच मे वो लंड को अपने गले तक ले जाती थी। करीब 8 मिनिट तक चूसने के बाद मुझे लगा की में झड़ने वाला हूँ तो उसने कहा की कोई बात नही और मेरा लंड वैसे ही चूसती रही फिर एकदम से मेरे लंड ने अपना माल उसके मुँह मे छोड़ दिया जिसे वो गटगट निगल गई और चूस चूस कर लंड साफ कर दिया मेरा लंड बैठ गया मगर उसने चूस चूस कर फिर से लंड खड़ा कर दिया मेरे दोनो हाथ अब भी उसके बूब्स दबा रहे थे मैने अब उसे बेड पर लेटाया और उसकी चूत सहलाने लगा फिर मैने उसकी चूत की दोनो फांको को अलग किया और अपनी जीभ उसके छेद मे उतार दी वो सिसकारियाँ भरने लगी और आहह…अहह……. ह्म्म्म्म म…. ह्म्म्म्म …… की आवाज़ें निकालने लग गई थोड़ी देर चाटने के बाद मैने अपनी एक उंगली को थूक लगाया और उसकी चूत मे घुसा दी वो एकदम से चीख उठी क्योकी उसकी चूत बहुत टाइट थी साथ ही मैने अपनी जीभ से उसका दाना सहलाना शुरू कर दिया.

एक तरफ मेरी उंगली उसकी चूत मे अंदर बाहर हो रही थी तो दूसरी तरफ मेरी जीभ उसके दाने को रग़ड रही थी 5-10 मिनिट के बाद उसकी साँसें तेज़ होने लगी और उसका और वो मेरा मुँह अपने हाथो से अपनी चूत पर दबाने लगी और एकदम से उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया उसकी चूत पर भी शहद लगा होने की वजह से उसके पानी का अजीब टेस्ट बन गया जिसे नमकीन और मीठा सा जिसे में चाट गया अब वो पूरी तरह से चुदाई के लिये तैयार थी मैने अब अपने लंड पर कन्डोम चढाया और मैने उसकी टांगे खोली और अपने लंड को उसकी चूत पर रखा और एक झटका दिया और उसके मुँह से ज़ोर से चीख निकली.

मैने जल्दी से अपने होंठ उसके लिप्स पर रख दिये और दूसरा झटका मारा मेरा आधा लंड उसकी चूत मे जा चुका था और वो दर्द के वजह से हुउऊुउऊँ…हुउन्न्न कर रही थी इतने मे मैने तीसरा झटका मारा और मेरा पूरा लंड उसकी चूत की पूरी गहराई मे उतर गया और उसकी आँखो से आंसू निकल आये में कुछ देर वैसे ही रहा और फिर अपना लंड उसकी चूत से निकाल लिया मैने देखा की उसकी चूत से बहुत सारा खून निकल रहा था और बेड शीट पूरी लाल हो चुकी थी मैने अपना लंड फिर से उसकी चूत मे डालना शुरू कर दिया इस बार उसे ज़्यादा दर्द नही हुआ और अब मैने धीरे धीरे झटके देना शुरू कर दिये.

थोड़ी देर में उसे भी मज़ा आने लगा और वो भी उछल उछल कर मेरा साथ देने लगी बीच बीच मे वो आवाज़ें निकाल रही थी और ज़ोर ज़ोर से करो फाड़ डालो और ज़ोर से और झटके देना शुरू कर दिये 10-15 मिनिट झटके मारने के बाद उसका शरीर अकड़ने लगा और वो मुझसे और ज़ोर से लिपट गई और झड़ गई में भी 2 मिनिट के बाद में भी झड़ गया उसकी चूत मे और सारा रस कन्डोम मे जमा हो गया और उसके बाद हम दोनो एक साथ लेट गये और पता नहीं कब आँख लग गई। दोस्तो में उसके साथ दो दिन रहा और दो दिन मे हमने 10 या 11 बार चुदाई की 2 दिन तक मैने और उसने बहुत मज़े किये और दो दिन बाद वो मुझे खुद यूनिवर्सिटी छोड़ने आई हालाँकि पहली बार इतनी ज़्यादा चुदाई के बाद उसकी चूत सूज गई थी और साथ मे बूब्स भी लाल हो गये थे मगर वो फिर भी खुश लग रही थी मेरे लंड का मत पूछो दोस्तो क्या हुआ था.

खैर जाते टाइम उसने मुझे एक पेकेट दिया और कहा की इसे हॉस्टल जाकर खोलना और फिर वो चली गई मैने पेकेट खोला तो उसमे से 5 हजार रुपये निकले मैने भगवान को धन्यवाद कहा की इतनी अच्छी और सुन्दर और बिल्कुल कुंवारी लड़की की सील तोड़ने को मिली और साथ मे पैसे भी दोस्तो तकरिबन 5-6 महीने हम साथ रहे और हर महीने हम चुदाई का प्रोग्राम रखते थे फिर 5-6 महीने बाद उसका पति आ गया और उसे अपने साथ ले जाना चाहता था। उसने लास्ट टाइम मुझसे होटल मे चुदाई की और मुझे लास्ट टाइम 10 हजार रुपये दिये और साथ मे अपनी कई सहलियों के एड्रेस भी जो चुदाई कराना चाहती थी। और फिर वो चली गई.

मगर आज भी उसका मैल आता हैं मुझे। दोस्तो ये थी मेरी पहली चुदाई की कहानी मैने पूरे 2 दिन उसके साथ गुजारे और पूरा मज़ा लिया और दिया। मैने उसके जाने के बाद उसकी सहलियों को भी चोदा और खूब मज़े किये ये अगली कहानी मे बताऊंगा..

धन्यवाद …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com