भतीजी की सील तोड़ी

प्रेषक : किशन

हैल्लो दोस्तों आप सभी लोग कैसे है, मेरा नाम किशन है, मैं और मेरा परिवार हनुमानगड़ के पास एक गावं मैं रहते है। दोस्तों मेरी उम्र 32 साल की है और मेरे लंड का साइज़ 8 इंच है और मैं दिखने मैं बहुत सुंदर हूँ, मेरा शरीर भी ठीक ठाक सा है, मेरी हाइट 5’7 इंच है। अब मैं आपको ज्यादा समय बोर न करते हुए अपनी कहानी पर आता हूँ। हमारे घर के पास मेरा भाई राहुल रहता था। उसकी शादी की हुए थे उसके एक लड़की थी जिसका नाम सोनिया था सोनिया की उम्र 18 साल की थी जो दिखने मैं बहुत खूबसूरत थी उसका साइज़ 34-28-36 था, जिसके बूब्स गोल-गोल बहुत सुंदर थे।

मेरा उनके घर पर हमेशा आना जाना रहता था जिससे में उनके साथ काफ़ी घुल मिल गया था, मेरा भाई सरकारी नौकरी करता था जिसके कारण उसे कई बार घर से बाहर कई कई दिनों तक रहना पड़ता था। जिसके कारण मुझे कई बार उनके घर रुकना पड़ता था। एक दिन मैं और सोनिया उनके घर पर बैठे बाते कर रहे थे, तभी मैने उससे डरते डरते पूछा की तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड है, उसने मेरी तरफ मुस्कुराते हुए कहा की तुम ये सवाल क्यों पूछ रहे हो, मैने कहा बस ऐसे ही पूछ लिया था।

फिर उसने जवाब दिया नही और वो कुछ बोलने लगी तभी मेरी भाभी आ गयी। उसने कहा जाओ सोनिया तुम्हारे चाचा किशन के लिए चाय बना लाओ और भाभी इतना कहकर ऊपर छत पर कपड़े सुखाने के लिये चली गयी और सोनिया किचन में चाय बनाने के लिये अंदर चली गयी कुछ देर तो मैं अकेला बैठा रहा फिर मैं भी उठकर उसके पीछे चला गया, मैने जब पीछे से उसे देखा वो जीन्स टी-शर्ट पहनी हुई थी, उसमे उसकी गांड एक दम मस्त लग रही थी। तभी मैने सोचा कि इसे आज पीछे से पकड़कर ज़बरदस्त तरीके से चूम लूँ और इसके गोल गोल बूब्स का सारा का सारा दूध पी जाऊं और उसकी चूत और गांड को आज फाड़ डालूं, मैं यह सोच रहा था कि तभी मेरी पेंट में कुछ हलचल हुई तो मैने देखा कि मेरा 8 इंच का लंड तनकर लोहे की राड जैसा हो गया था और मैने हिम्मत करके सोनिया को पीछे से पकड़ लिया और उसके कान के पास किस करने लगा, मेरा लंड उसकी गांड से चिपका हुआ था। उसने पीछे मुड़कर कहा तुम यह क्या कर रहे हो तभी में अचानक से पीछे हट गया और वो हंसने लगी तभी मेरी भाभी ने कमरे से हमे आवाज़ दी और हम बाहर चले गये फिर हमने साथ में बैठ कर चाय पी और मैं  अपने घर के लिये निकल गया और रास्ते में जाते जाते यही सोच रहा था कि कही उसने किसी को यह बात बता दिया तो क्या होगा और में पर घर चला गया।

उस रात को में खाना खाकर सीधा ही अपने रूम में जाकर सो गया था और में सुबह उठा और नहा कर सोनिया के घर डरते डरते चला गया, तभी मैने देखा की वो लोग कहीं जाने की तैयारी कर रहे है। में बहुत चकित हो गया था, तभी मेरे भाई ने मुझसे कहा कि अच्छा हुआ कि तुम सही समय पर आ गये हम लोग दो तीन दिन के लिए बाहर जा रहे है और तुम सोनिया के पास ही रहना ये बात सुनकर अब मैं बहुत खुश हुआ और सोचा की सोनिया ने किसी को कुछ नही बताया और सोचा की शायद आज मैं सोनिया को चोद लूँगा और वो लोग शाम होते ही चले गये थे। फिर मैं और मेरी भतीजी दोनो घर में अकेले थे उसने मुझसे कहा कि शायद तुम्हे मुझमे कुछ दिखा और वो चुप हो गई और कुछ देर बाद वो बोली आप जाओ और दो बियर की बोतल ले आओ और तब तक मैं हम दोनो के लिए खाना बना लेती हूँ। मैं बहुत चकित हुआ था लेकिन फिर भी में जल्दी से बाजार से दो बियर की बोतल ले आया इतने मे वो खाना बना कर नहा भी चुकी थी। उसने लोवर और शॉर्ट शर्ट जो कि उसको बहुत टाईट थी उसने अंदर ब्रा भी नही पहनी हुई थी। जिस के कारण उसके निप्पल साफ दिखाए दे रहे थे। उसने मुझसे कहा आप आ गये चाचा जी तो आप फ्रेश हो जाइए मैं फ्रेश होकर बाहर आया तो उसने टीवी पर फेशन चेनल चला रखा था। मैने उस दिन सिर्फ़ एक बड़ी से अंडरवियर पहनी थी। फिर हम दोनो ने बाते करते हुए बियर पी रहे थे, अब उसे बियर का थोड़ा थोड़ा असर होने लगा था, मैने उससे पूछा कि तुमने कभी सेक्स किया है। उसने कहा नहीं मुझे बहुत डर लगता है, मैने कहा लेकिन इसमें डरने वाली कौन सी बात है, इतना कहकर मैने उसके गुलाबी गुलाबी होठो पर एक ज़बरदस्त किस कर लिया था।

फिर में कुछ देर तक उसके होठो को चूसता रहा और फिर मैने उसकी शर्ट ऊतार दी उसके बूब्स क्या कमाल लग रहे थे। मैने उसके बूब्स को धीरे धीरे दस मिनट तक प्रेस करना शुरू किया उसे भी अब मज़ा आने लगा था फिर मैने उसकी लोवर को उतार दिया मैने देखा की उसकी चूत पर एक भी बाल नही था, फिर मैने उसकी चूत को दस मिनट तक चूसा और उसका सारा रस पी गया फिर में उसकी चूत में अपनी एक उंगली डालकर अंदर बाहर करने लगा फिर उसके मुहं से आवाज़ आने लगी आह्ह्ह्ह बस करो मरी आज में, प्लीज बस करो छोड़ दो मुझे।

फिर मैने उसकी चूत से उंगली बाहर निकली और उसे कहा कि मेरा लंड चूसो अब उसने मेरे लंड को हाथ में लिया और कहा कि ये तो बहुत बड़ा है शायद ये लंड तो मेरे मुहं में भी नहीं आ सकता है और आज तुम इसे मेरी चूत में डाल कर मेरी चूत क्या फाड़ना चाहते हो क्या ? तभी मैने उसे बहुत समझाया कि चूत में एक बार लंड जाने के बाद दर्द नहीं होता और चूत में कभी भी दर्द नहीं होता है। मेरे बहुत समझाने के बाद वो मान गई और उसने लंड को मुहं में लिया और चूसने लगी चूसते चूसते वो थक गई और फिर कुछ देर के बाद उसने मेरे लंड को मुहं से बाहर निकाला तभी मैने उसे कहा कि तुम इस पर थोड़ा तेल लगा दो इससे लंड तुम्हारी चूत में आसानी से चला जाएगा और तुम्हे दर्द भी थोड़ा कम होगा।

तभी उसने तेल लिया और लंड पर वो अच्छे तरीके से तेल लगाने लगी और मैने भी उसकी चूत और बूब्स पर अच्छे तरीके से तेल की मालिश की, सोनिया ने कहा अब तुम मुझे और मत तरसाओ प्लीज़ चोदो मुझे जल्दी से वरना आज में मर जाउंगी, तभी मैने अपने लंड को उसकी चूत के मुहं पर रख दिया था, लेकिन उसे तो सब्र नहीं हो रहा था, वो तो मुझे हर बार जोरो से खीच रही थी और कह रही थी क्या हुआ क्या अब लंड को क्या कल इस चूत में डालोगे। जल्दी करो ना और मैने लंड को चूत के मुहं पर रगड़ा जिससे की लंड पर चूत का पानी लगने लगा और लंड थोड़ा गीला हुआ और मुझे लगा था कि शायद अब लंड गिला होने पर चूत में आराम से चला जाएगा, लेकिन फिर भी मेरे जोर से अंदर धकेलने पर भी लंड नहीं जा रहा था क्योकि उसकी चूत बहुत ही टाईट थी। फिर मैने अचानक से एक ओर ज़ोर का झटका मारा जिससे वो चिल्ला उठी ऊऊह्ह मार दिया उसकी चीख सुनकर में थोड़ा रुक गया और चूत पर हाथ फेरने लगा, तभी उसने कहा कि तुम लंड को बाहर निकाल दो मैने लंड को बाहर निकाल कर अपनी ऊँगली चूत में डाल दी और उसे ऐसे ही चोदने लगा उसका दर्द कम हो गया था, वो तो आंखे बंद करके चूत को फैला कर मेरे सामने पड़ी थी अब मुझे लग रहा था कि वो भी मेरा लंड लेना चाहती है। फिर सोनिया ने उठकर मेरे लंड को देखा और मुस्कुराई और कहने लगी कि इतना बड़ा लंड और लंड को पकड़ कर चूसने लगी 10 मिनट के बाद मैं झड़ गया, मैने पूरा वीर्य उसके मुहं में निकाला वो उसे बड़े मजे से चूस रही थी। फिर हम दोनो किस करने लगे फिर 15 से 20 मिनट के बाद सोनिया को झपट कर किस करने लगा। तभी सोनिया ने झट से मुझे हटा कर कहा की जानू अब बस रहा नही जा रहा है प्लीज अपना लंड मेरी इस गरम चूत मैं डाल दो तभी मुझे जोश आ गया और मैंने अपना लंड सोनिया की चूत पर रख कर एक जोर का धक्का मार दिया तो क्या था मेरा लंड आधे से ज्यादा चूत के अंदर चला गया क्योकि सोनिया की चूत पहले से ही बहुत गीली हो गयी थी और दूसरे धक्के मैं पूरा का पूरा लंड चूत के अंदर चला गया और मैं धीरे धीरे धक्का देने लगा।

सोनिया सिसकारीयां भरने लगी आआस्शह ऐसे करने लगी और गांड उछाल उछाल कर मेरा पूरा पूरा साथ देने लगी थी और उसको दर्द भी हो रहा था अब शायद चूत से खून भी निकलने लगा था लेकिन उसको ये मालूम नहीं था। मैं तो उसकी चूत का दीवाना होता जा रहा था 20 से 25 मिनट के बाद मैं झड़ने वाला था तभी मैने सोनिया से कहा की मैं झड़ने वाला हूँ। तभी वो मुझसे कहने लगी की अंदर वीर्य मत निकालो बाहर निकालो, तो मैंने लंड बाहर निकाल कर सोनिया के मुहं पर पूरा वीर्य डाल दिया और सोनिया मेरे लंड को पागल की तरह चूसने लगी। फिर रात को मैंने सोनिया को चार बार और चोदा और वैसे ही हम दोनो किस करते सो गये, पता ही नही चला कि हमे नींद कब आ गयी थी। सुबह सोनिया उठी और नहा कर मेरे लिये पानी लाई और मुझे नींद से जगाया तो मैंने कहा कि सोनिया हम एक बार फिर चुदाई करते है प्लीज।

उसने कहा कि अभी नही आज रात को करना और उसने मना कर दिया। मुझे मालूम था कि अभी सोनिया को बहुत दर्द हो रहा था। क्योकि ये उसकी पहली चुदाई थी। तभी मैंने कहा कि तुम मुझे एक किस तो दो। तभी सोनिया ने मुझे प्यार से एक अच्छी सी किस दी और मैं सोनिया के बूब्स दबा रहा था। तभी सोनिया ने कहा थोड़ो तो रुको मेरी जान कह कर मुझे बाथरूम मैं धकेल दिया। मेरे फ्रेश होने के बाद मैं अपने घर चला गया और सोनिया अपने घर पर अकेली थी। मेरे घर पहुचने के बाद उसका फोन आया और वो कहने लगी कि रात को आना मत भूलना मेरी चूत तुम्हारे लंड का इंतजार करेगी, जल्दी आना ।।

धन्यवाद …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com