माँ ने अपनी लाल पेंटी में छेद करवाया

प्रेषक : प्रीति

हैल्लो दोस्तों मेरा नाम प्रीति है और में 11th क्लास में पढ़ती हूँ और मेरे घर में मेरे मम्मी पापा और छोटा भाई है पापा एक प्राईवेट कम्पनी में इंजिनियर है और छोटा भाई पढ़ता है और मेरी मम्मी मेरे ही स्कूल में इंग्लिश की टीचर है। यह स्टोरी मेरी मम्मी की है।

दोस्तों मेरी मम्मी का नाम ईशा है और वो बहुत सेक्सी लेडी है। वो स्कूल में हमेशा जुड़ा बना कर रखती है और सलवार कमीज़ या साड़ी पहनती है वो बहुत सुंदर लेडी है हो भी क्यों ना उनका फिगर 36-32-38 जो था और उनकी लम्बाई 5.8 इंच है। मेरे पापा 6 महीने बाहर रहते थे जिसके कारण मम्मी 6 महीने अकेली रहती है और उन्हे सेक्स का बहुत शौक था लेकिन अकेले होने के कारण वो अपनी इच्छा दबा लेती थी। आस पास के आदमी और पड़ोसी उन्हे बहुत घूर घूर कर देखते थे लेकिन वो किसी को घास नहीं डालती थी। मेरी मम्मी ने कई बार मुझे अपने बॉयफ्रेंड के साथ स्मूच करते हुए पकड़ा था। वो मेरे साथ बहुत खुली हुई थी। फिर एक दिन हमारे यहाँ पर मेरी मम्मी की दोस्त की शादी का कार्ड आया और हमे एक सप्ताह के लिए लिए किसी गाँव में जाना था क्योंकि शादी गाँव में थी और हम अपनी कार में वहाँ पर चले गये। फिर पहले दिन मम्मी ने वहाँ पर शादी समारोह में उनकी बहुत मदद की। मम्मी ने नॉर्मल सलवार कमीज़ पहनी हुई थी लेकिन बहुत हॉट सेक्सी लग रही थी। वहाँ पर एक आदमी जो गाँव का था वो उन्हे बहुत घूर रहा था और उनके साथ मिलकर काम कर रहा था।

तभी थोड़ी देर बाद मैंने काम वाली को एक लेडी से कहते हुए सुना कि यह राज बहुत कमीना है इसने गाँव की किसी भी औरत को नहीं छोड़ा.. अब इसकी नज़र ईशा मेमसाहब पर है। मम्मी और राज शादी के किसी काम के लिए मार्केट गये थे और उन्हें गये हुए 5 घंटे हो गये थे। तभी मुझे लगा कि कहीं वो मम्मी के साथ कुछ कर ना ले और मम्मी पीला सूट पहनकर गई थी। जब मम्मी और वो वापस आए तो दोनों बहुत खुश दिखाई दे रहे थे और उनके हाथ में सामान था और शाम को लॅडीस संगीत था। मम्मी ने महरून कलर की सलवार और क्रीम कलर की कमीज़ पहनी थी। कमीज़ का गला बहुत गहरा था और पीछे जीप लगी थी मम्मी ने नीचे सफेद ब्रा लाल कलर की पेंटी पहनी हुई थी।

तभी मैंने मम्मी से कहा कि मम्मा आपकी ब्रा कमीज़ में से दिख रही है आप इसे बदल लो। तभी उन्होंने कहा कि थोड़ा सा तो चलता है यह बिल्कुल ठीक है और फिर संगीत में मम्मी डांस कर रही थी और राज उन्हे घूर घूर कर देख रहा था। संगीत के बाद मैंने देखा कि मम्मी और राज छत पर कुर्सी पर बैठे थे और कॉफी पी रहे थे। फिर मम्मी ने एक पैर के ऊपर दूसरा पैर रखा हुआ था और उनकी जांघ पूरी दिख रही थी और वो देख रहा था। फिर वो दोनों छत पर इधर उधर घूमने लगे तो मम्मी की पायल और चूड़ियाँ आवाज़ कर रही थी। राज मम्मी की मेहंदी की तारीफ कर रहा था और मम्मी उससे कह रही थी कि मुझे प्लीज गाँव घुमाओ मैंने कभी नहीं देखा तभी उसने कहा कि ठीक है। तभी थोड़ी देर बाद मम्मी ने अपने बालों का जुड़ा खोल लिया और उसने मम्मी की कमर पर हाथ रखा मम्मी ने उसका हाथ हटा दिया। थोड़ी देर बाद उसने मम्मी की गांड पर छुआ लेकिन मम्मी ने फिर से हाथ हटा दिया। तभी उसने कहा कि में सुबह तुम्हे पूरा गाँव घूमा दूँगा फिर उसने मम्मी को पीछे टच किया।

मम्मी रूम में आ गई.. रूम में मैंने देखा कि मम्मी ने मेरे बेग से विस्पर निकाला और हम सोने लग गये। फिर रात को 1 बजे मैंने देखा कि मम्मी ने अपनी सलवार नीचे खिसका कर पेंटी को जांघ तक करके चूत में ऊँगली कर रही थी। मम्मी बहुत गरम थी और फिर थोड़ी देर बाद झड़ गई और विस्पर लगा कर सो गई। फिर सुबह 5 बजे मैसेज आया मम्मी को घूमने जाना था मम्मी उठकर उसी ड्रेस में तैयार हो गई वहाँ पर बहुत सर्दी होने की वजह से मम्मी ने दुपट्टा नहीं लिया बल्कि शॉल ली हुई थी। तभी मैंने सोचा कि में भी उनका पीछा करती हूँ और वो दोनों पैदल घूम रहे थे। फिर वो मम्मी को अपने खेत दिखा रहा था। तभी उसका ध्यान बार बार मम्मी की सेक्सी बॉडी पर जा रहा था और वो बीच बीच में मम्मी पर हाथ फेर देता था। मम्मी भी अपनी गांद बहुत मटका रही थी वो मम्मी को एक खाली रूम में ले गया। दोस्तों ये कहानी आप कामुकता डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

तभी कुछ देर मैंने देखा कि मम्मी दीवार के साथ खड़ी थी और उसके काले होंठ मम्मी के लाल होंठो को किस कर रहे थे और मम्मी उसको पूरा रस पिला रही थी। फिर मम्मी ने अपने हाथ से उसके लंड को पकड़ लिया और दबाने लगी उसने मम्मी की सलवार पर हाथ फैरना शुरू कर दिया.. उसका काला हाथ मम्मी की महरून सिल्क सलवार पर चल रहा था.. उसने आराम से मम्मी की शॉल हटाई और हाँफते हुए बूब्स को देखने लग गया। उसने अपने सारे कपड़े उतार दिए उसका काला शरीर और लंड दिख रहा था.. उसका लंड लगभग 9 इंच लम्बा और 4 इंच मोटा था। तभी मम्मी ने अपना सेल फोन स्विच ऑफ किया और उसने मम्मी की कमीज़ उतार कर नीचे रख दी। फिर मम्मी ने अपनी सलवार उतारी जो कि उतर नहीं रही थी.. उसने मम्मी की बहुत आराम से मदद की और मम्मी को सूखी घास पर लेटा दिया। तभी मम्मी ने उससे कहा कि राज मेरी चूत में घास घुस रही है तभी उसने मम्मी की सिल्क सलवार मम्मी की गांड के नीचे बिछा दी और कमीज़ को मम्मी के सर के नीचे।

तभी उसने मम्मी की ब्रा उतार दी और 40 मिनट तक मम्मी का दूध पीता रहा और बूब्स चाटता रहा फिर मम्मी भी उछल उछल कर बूब्स पीला रही थी.. दूध पीने के बाद उसने मम्मी की लाल पेंटी में वीडियो बनवाई मम्मी ने अपना चेहरा अपनी सलवार से ढक लिया था और मम्मी लाल पेंटी में जबरदस्त रंडी लग रही थी। वो अपना काला जिस्म लेकर मेरी गोरी मम्मी के ऊपर ज़बरदस्ती करने लग गया लेकिन पेंटी होने के कारण लंड अंदर नहीं जा रहा था। तभी मम्मी ने उससे कहा कि राज पेंटी उतार कर जल्दी से कर लो अगर कोई यहाँ पर आ गया तो प्राब्लम हो जाएगी। फिर उसने जोश में आकर जोर जोर से 20-30 धक्के लगाए झट से उसका लंड मम्मी की लाल पेंटी में छेद करके चूत में चला गया। तभी मम्मी जोर से चिल्लाई अह्ह्ह्ह माआआ उफ्फ्फ्फफ्फ्फ़ राज प्लीज धीरे करो और वो मम्मी को तो पागल कुत्ते की तरह चोदता रहा और मम्मी उछल उछलकर उसका साथ देती रही। तभी करीब 20 मिनट बाद उसने अपना सारा वीर्य मम्मी की चूत में खाली कर दिया और मम्मी वहीं लेटी रही। तभी थोड़ी देर बाद मम्मी ने अपनी पेंटी से उसका लंड और अपनी चूत दोनों को साफ किया और पेंटी वहीं पर फेंक दी और मम्मी कपड़े पहनकर चुपचाप वापस आ गई और किसी को कुछ पता नहीं चलने दिया। तो दोस्तों ये थी मेरी मम्मी की कहानी मेरी जुबानी ।।

धन्यवाद …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com