रवि ने अपनी सौतेली माँ से लिया बदला – 2

प्रेषक : आशु

डियर फ्रेंड्स, में आशु फिर हाज़िर हूँ “रवि ने अपनी सौतेली माँ से लिया बदला 1” का अगला भाग लेकर इसका पहला पार्ट सभी को बहुत पसंद आया और सभी ने मुझे जल्दी से जल्दी इसका दूसरा भाग भेजने को कहा तो मे हाज़िर हो गया दूसरा भाग लेकर।

जब सुधा ठीक हो गयी तो एक रात को वो खुद ही रवि के कमरे मे गयी। और उससे माफी माँगी सुधा ने रवि को अपनी बाहों मे जकड़ लिया और उसे चूमने लगी और बोली मे आज से तुम्हारी हूँ तुम मेरे हो, साथ ही जो चाहो वो कर सकते हो। अब रवि कहाँ पीछे हटने वाला था। उसने उसे बेड पर लिटाके उसके कपड़े उतरने लगा उसकी बूब्स को मसलने ओर चूसने लगा मगर इस बार पूरा मज़ा लेते हुए।

फिर उसने सुधा को रात भर चोदा। ऐसे ही वो सुधा को हर रात चोदता है। वो दोनो बिल्कुल पति पत्नी की तरह रहने लगे। ये बात रोमा को पता चला तो उसने एक दिन दोनों को रात मे चुदाई करते हुए देख लिया। फिर क्या था वो भी गरम हो गयी और चुदने के लिए तरसने लगी।

इस बीच रवि ने मुझे सारी बात बताई कि कैसे वो रोज़ सुधा को चोदता है। उसने मुझे कहा कि मे भी आकर उसके साथ उसके घर मे रहने लगूँ और उसकी दोनो बहन या मोसी जिसको चाहूँ चोदूँ। मगर मे जिस दोस्त के यहाँ रहता था, वहां मेरे लिए चूत की कमी नहीं थी। क्योंकि में अपने दोस्त की माँ और बहन को जम कर चोदता था। तो मेने उसे मना कर दिया कहा कि “यार अगर कभी मुझे इसकी ज़रूरत पड़ी तो मे ज़रूर उसके घर ही आऊंगा।

सुधा को रोमा के ऊपर थोड़ा शक हुआ कि वो किसी लड़के के चक्कर मे पड़ी है। एक दिन रोमा उस लड़के से फोन पर बात कर रही थी। की अब वो बिना चुदाई के नही रह सकती और वो लड़का उसे जहाँ चोदना चाहे वो जाएगी, चुदने से उसे ऐतराज़ नहीं था, क्योंकि उसे तो बस अपनी चूत की खुजली को मिटाने के लिए एक लंड की ज़रूरत है। ये सुन कर सुधा दंग रह गयी कि ये अगर रोमा कहीं बाहर जाकर किसी से चुदने लगी तो उसके घर की बदनामी होगी। सुधा ने रात को रवि से चुदते चुदते ये बात उसे बताई तो रवि ने कहा की वो रोमा को धमकाएगा कि वो ये सब बंद कर दे। लेकिन सुधा ने उसे ये सब करने के लिए मना कर दिया क्योंकि रोमा आज तक किसी से नहीं चुदी है। वो दिखने मे भी बहुत ही खूबसूरत है तो कहीं डर के कारण वो कुछ ग़लत काम ना कर बैठे।

फिर सुधा के दिमाग़ मे एक आइडिया आया उसने रवि से कहा की वो अगर रोमा को चोदे तो उसे कहीं बाहर जाकर चुदाई नहीं करानी पड़ेगी घर की बात घर मे ही रह जाएगी और रोमा को अपनी चूत की खुजली मिटाने के लिए एक लंड भी मिल जाएगा और इसमे किसी कि बादनामी भी नहीं होगी। रवि तुरंत मान गया क्योंकि उसे तो बस चोदना था और उसे भी एक लड़की की कुवांरी चूत को चोदने का मज़ा भी मिलेगा। फिर रवि ने सुधा से कहा की क्या रोमा इसके लिए राज़ी हो जाएगी तो सुधा ने कहा की ये सब तुम मुझ पर छोड़ दो मे उसे तुमसे चुदने के लिए तैयार कर दूंगी।

दूसरे दिन सुबह जब रोमा बाहर जाने के लिए निकली तो सुधा ने उसे कहीं भी जाने के लिए मना कर दिया ये सुन कर रोमा को बुरा लगा। और वो अपने कमरे मे जाकर रोने लगी। फिर सुधा उसके कमरे मे जाकर उससे उस लड़के के बारे मे पूछा तो रोमा घबरा गयी।

सुधा ने कहा के “मुझे तेरे और उस लड़के के बारे में सब पता है की तू उससे चुदना चाहती है। मैंने तुमको फोन पर उस लड़के से बात करते हुए सुन लिया था। ये सुन कर रोमा डर के मारे चुप हो गयी। सुधा ने उससे पूछा की क्या वो उस लड़के से प्यार करती है या वो लड़का उससे प्यार करता है। तो इस पर रोमा ने उसे सारी बात बताई की कैसे वो रवि को और सुधा को रोज़ रात मे चुदाई करते हुए देखती है। उसने कहा की अब उससे भी बर्दाश्त नहीं होता और वो भी किसी से चुदना चाहती है। उस लड़के से वो प्यार नहीं करती उसे तो बस उसके साथ चुदाई करके चूत की प्यास बुझानी है।

जैसे ही सुधा ने उसकी बात सुनी तो उसने रोमा से कहा की उसे कहीं बाहर जाकर चुदने की ज़रूरत नहीं है क्योंकि जब घर मे ही उसे एक तगड़ा लंड मिल जाएगा। रोमा कुछ नहीं समझी और पूछा कि “दीदी घर मे कहाँ से मुझे लंड मिलेगा क्योंकि हमारे घर मे तो बस एक ही लड़का है। और वो रवि है जो की तुम्हे चोदता है, तो मे कैसे उससे चुद सकती हूँ। ये सुन कर सुधा ने उसे कहा की “मैने रवि को मना लिया है। तुम्हारी चुदाई करने के लिए और वो मान भी गया है।

आज रात जब सोनू और मोना सो ज़ाये तो चुप चाप तू रवि के कमरे मे आ जाना में वहां तेरा इंतज़ार करूँगी। ये सुन कर रोमा खुश हो गयी और उसने उस लडके को फोन करके कह दिया कि वो कभी उसे फोन ना करे। फिर रात को खाना खाने के बाद सब लोग अपने अपने कमरे मे चले गये सोने के लिए घर बहुत ही बड़ा था। लेकिन फिर भी रोमा मोना और सोनू के कमरे मे ही उनके साथ सोती थी।

ठीक रात के 12 बजे जब सोनू और मोना सो गये तो रोमा चुपके से उठ कर रवि के कमरे मे चली गयी। वहां पहले से ही सुधा और रवि का किसिंग प्रोग्राम चालू था। जैसे ही रोमा अंदर गयी तो सुधा ने उठ कर दरवाज़ा बंद कर दिया। उसने रोमा को रवि के पास जाने के लिए कहा तो रोमा थोड़ा शरमाई क्योंकि उसने पहले कभी रवि से बात नहीं की थी और आज डाइरेक्ट चुदवाने चली आई, तब सुधा ने रोमा का हाथ पकड़ कर रवि की साइड मे बिठा दिया। अब रवि ने रोमा को अपनी तरफ खिसका कर उसके नरम नरम गुलाबी होंठों को चूसने लगा। कुछ देर बाद रोमा भी गरम होने लगी और उसने भी रवि का बराबर साथ दिया। रवि उसे किस करते करते उसकी बूब्स को नाईटी के ऊपर से ही दबाने लगा। सुधा साइड मे बैठ कर ये सब देख रही थी। फिर रवि ने ऱोम के कपड़े उतारना शुरू कर दिया तो सुधा भी रवि के पास आकर उसके कपड़े उतारने लगी रोमा ने जानबूझ कर अंदर कुछ नहीं पहना था, तो नाईटी उतारने के बाद वो बिल्कुल नंगी हो गई, सुधा ने भी रवि के सारे कपड़े उतार दिए और वो खुद भी अपने कपड़े उतारने लगी।

अब तीनो ही एक दूसरे के सामने नंगे खड़े थे। तब रवि ने रोमा को बेड पर लिटा कर उसकी चूचियों को एक के बाद एक चूसने लगा तो रोमा के मुहं से सिसकारियां निकलने लगी। रोमा अहह उम्म्म्म करने लगी। सुधा ने रोमा का हाथ पकड़ कर रवि के लंड पर रख दिया तो रोमा ने धीरे धीरे रवि के लंड को सहलाने लगी। इस पर रवि का लंड तूफ़ानी रफ्तार से खड़ा होने लगा। रवि ने फिर रोमा की नाभि से हो कर चूत की तरफ मुहं बढ़ाने लगा। उसने रोमा की दोनो टाँगे फैला दी तो उसे उसकी गुलाबी चूत साफ साफ दिखाई देने लगी। रोमा ने सुधा के कहने पर आज ही अपनी चूत के बालों को साफ किया था।

सुधा ने रोमा के दोनो चूचियों को सहलाना शुरू कर दिया और उसके मुहं मे जीभ घुसा कर रोमा की जीभ को चाटने लगी। रवि ने जैसे ही रोमा की चूत के दोनो होंठो को खोला तो रोमा मस्त हो गई। उसकी चूत पहले से ही गीली हो चुकी थी। रवि ने रोमा की चूत के मुहं को आहिस्ता रगड़ना शुरू किया तो रोमा सिसकारियाँ भरने लगी। रोमा की चूत कुंवारी होने के कारण उसका छेद बहुत ही छोटा था। और अंदर बिल्कुल गुलाबी रंग दिख रहा था।

अब रवि का लंड पूरा खड़ा हो गया था। तो उसने रोमा को लंड चुसने के लिए कहा रोमा ने आज से पहले रवि के लंड को दूर से ही सुधा की चुदाई करते हुए देखा था। मगर आज अपने हाथ मे पकड़कर देखा तो डर गयी, क्योंकि मैने जैसा पहले ही कहा है कि रवि का लंड 8” से भी बड़ा और 3” मोटा था। जिसको अगर एक रंड्डी भी देख ले तो वो भी घबरा जाए पता नहीं उसका लंड इतना बड़ा कैसे हो गया था। क्योंकि उसके बाप का लंड उससे काफ़ी छोटा था। करीब 6.5” का रोमा ने उसके लंड के उपर की चमड़ी खोल कर उसके गुलाबी हिस्से को हटा दिया और अपनी जीभ से चाटने लगी। सुधा ने उसे पूरा लंड अपने मुहं मे घुसाकर चूसने के लिए कहा तो रोमा ने पूरे लंड को मुहं मे घुसा लिया, लेकिन लंड इतना बड़ा था कि उसको कभी सुधा भी अपने मुहं मे पूरा नहीं घुसा सकी, क्योंकि उसको पूरा घुसाने से सांस लेने मे तकलीफ़ होती थी। अब रोमा जितना हो सके लंड को मुहं मे घुसा कर ज़ोर ज़ोर से चूसने लगी। रवि और रोमा एक दम 69 की पोज़िशन पर आ गये थे। रवि रोमा की चूत को चोदने लगा फिर शुरू हुआ 3 लोगों का एक ज़बरदस्त चुदाई का पहला प्रोग्राम।

रोमा बहुत ही जल्दी रवि के मुहं मे झड़ गयी थी। तब रवि उठ कर रोमा की दोनो टांगो के बीच में बैठ गया। सुधा ने रवि के लंड को पकड़ कर रोमा की चूत के छेद मे घुसा दिया। फिर सुधा ने अपने हाथो से रोमा की चूत को खोल दिया जिससे की रवि का लंड आराम से चूत मे घुस जाए। सुधा ने रवि को धक्का देने का इशारा किया तो रवि ने एक ज़ोर का धक्का मारा। रोमा की चूत का छेद बहुत ही छोटा था, इसलिए लंड फिसल गया ऐसा दो तीन बार हुआ तो सुधा जाकर तेल की शीशी ले कर आई और उसने रवि के लंड को तेल से अच्छी तरह मालिश किया। फिर उसने रोमा की चूत मे भी तेल की मालिश की और ढेर सारा तेल से रोमा की चूत को भर दिया। अब रोमा की चूत तेल से लपालप भर गयी थी, सुधा ने फिर से रोमा की चूत को पूरी तरह खोल दिया और रवि को आहिस्ता से लंड घुसाने के लिए कहा।

रवि ने अपने लंड को हाथ से पकड़ कर अंदर धीरे से डालने लगा। रोमा की चूत तेल से बहुत ही चिकनी हो गयी थी। इस कारण फक फक की आवाज करते हुए रवि के लंड का टोपा अंदर घुस गया तो रोमा चीख पड़ी माआआ ओह अहह निकालो ऊऊऊओ जल्दी से। तभी सुधा ने तुरंत रोमा की चूचियां दबाने लगी और उसकी मुहं मे अपनी जीभ घुसेड दी ताकि रोमा की आवाज़ बाहर तक सुनाई ना दे। क्योंकि रोमा कि चीख इतनी तेज़ निकल रही थी की उसकी दोनो बेटियाँ कहीं आवाज से उठ ना जाए।

रवि थोड़ा रुक गया और हाथ से रोमा की चूत के दाने को सहलाने लगा। कुछ देर बाद जब रोमा शांत हुई तो उसने एक ज़ोर का झटका मारा तो लंड आधे से ज़्यादा चूत मे गुस गया। इस बार रोमा फिर से चिल्लायी बाआईईई। सुधा उसकी चूचियों को सहलाती रही फिर रवि ने बिना रुके और एक ज़ोर का धक्का मारा तो लंड पूरा का पूरा घुस गया। इस बार रोमा बेहोश हो गयी क्योंकि रवि का लंड उसकी सील को तोड़ते हुए बच्चे-दानी से जाकर टकराया था और खून का फव्वारा फूट पड़ा, ये देख कर रवि थोड़ा घबरा गया और अपने लंड को निकालने लगा क्योंकि उसने आज तक कभी किसी लड़की की चूत नहीं फाड़ी थी।

रवि जैसे ही लंड निकालने लगा तो सुधा ने उसे रोक लिया और बोली “जब कोई लड़की पहली बार किसी मर्द से चुदवाती है तो ऐसा ही होता है। जब तुम्हारे बाप ने पहली बार मुझे चोदा था तो में भी बेहोश हो गयी थी। जबकि उनका लंड तो तुमसे बहुत छोटा था। लेकिन तुम्हारा लंड तो लोहै का रोड जितना बड़ा और मोटा है। तो अगर किसी रंडी को को भी चोदे तो उसकी भी हालत खराब हो जाएगी फिर ये तो एक कसी हुई कुवारी चूत है। इस को तो बेहोश होना ही था। तुम रुको मे इसे पानी पिलाती हूँ।

फिर सुधा ने रोमा के मुहं पर पानी छिड़का और उसे थोडा पानी पिलाया तो तब जाकर रोमा की जान में जान आई। रोमा ने रवि के आगे हाथ जोड़े और बोंली की “ मुझे नहीं चुदवाना किसी से मे ज़िंदगी भर ऐसे ही बिना चुदवाए रहूंगी। मुझे जाने दो तभी सुधा ने उसे समझाया की ये तो हर लड़की के साथ होता है। घबरा मत कुछ देर बाद तुम्हे भी मज़ा आने लगेगा। मगर रोमा नहीं मानी और वो उठने की कोशिश करने लगी तो सुधा ने उसको ज़ोर से पकड़ा लिया। फिर उसकी चूचियाँ को चूसने लगी, रवि भी धीरे धीरे लंड को बाहर भीतर करने लगा। रोमा चिल्लाती रही लेकिन रवि नहीं रुका वो उसे चोदता रहा।

थोड़ी देर बाद जब उसका दर्द कम हुआ तो वो भी आगे से गांड उछाल उछाल कर चुदवाने लगी। उसे दर्द तो हो रहा था मगर मज़ा भी आने लगा था। अब सुधा भी गरम होने लगी उसने रोमा के मुहं पर अपनी चूत खोल कर बैठ गयी और उसे चाटने को बोली तो रोमा खूब मज़े ले ले कर चाट कर कहने लगी। फिर रोमा थोड़ी सिकुड़ने लगी तो सुधा उठ गई और रोमा ज़ोर से चीखते हुए झड़ गयी। उसके मुहं से बहुत जोर से वही आवाज़ें निकल रही थी। मईरीइईईईई ये सुनकर रवि और तेज़ी से चोदने लगा ज़्यादा तेल और चूत रस के कारण चूत से फच-फच की आवाजें निकल रही थी। अब सुधा भी काफ़ी गरम हो गयी थी तो रवि ने अपनी दो उंगलियाँ उसकी चूत मे डाल कर अंदर बाहर करने लगा। सुधा भी सिसकारियाँ भर रही थी आआआ।

15-20 मिनट चोदने के बाद रवि भी झड़ने वाला था। तो उसने रोमा से पूछा की क्या करूँ तो रोमा ने उसे चूत मे ही झड़ने के लिए कहा। लेकिन सुधा कुछ कहती उससे पहले रवि ज़ोर से झड़ गया और सारा वीर्य रोमा की चूत मे ही डालते हुए उसके उपर ही लेट गया और दोनो ने एक दूसरे को कस कर पकड़ लिया जब तक रवि का सारा वीर्य उसकी चूत मे ना गिर जाए करीब 4-5 मिनट तक थोड़ा थोडा करके रवि का वीर्य चूत मे गिर रहा था। तो गिरते गिरते रवि उसकी चूत के अंदर लंड को धक्का मरता तो रोमा मदहोश हो जाती और उसे ज़ोर से बाँहों मे कस लेती, करीब 10 मिनट के बाद रवि उठा और लंड को खींचा तो फक के आवाज़ के साथ ढेर सारा खून और वीर्य लेकर निकल पड़ा। दर्द के कारण रोमा उठ नहीं पा रही थी। मगर सुधा अभी भी प्यासी थी। उसने तुरंत ही रवि के लंड को पकड़ के अपनी मुहं मे डाल कर चूसने लगी।

15 मिनट मे रवि का लंड फिर से लोहे की तरह तन गया। सुधा ने उसे कहा कि “अब रहा नहीं जाता जल्दी से इसे डाल दो मेरी चूत मे और इसकी प्यास बुझा दो। रवि ने देर ना करते हुए एक ज़ोर का धक्का मार कर सुधा की चूत मे अपना लंड डाल दिया और उसे तूफ़ानी रफ़्तार से चोदे लगा। अबकी बार रवि ने सुधा को पूरे 15 से 20 मिनट तक चोदा। इस बीच उसने उसकी गांड भी मार कर फाड़ दी, सुधा 2 बार झड़ चुकी थी। तो उसे बहुत दर्द होने लगा था। उसके मुहं से अहहयहह की आवाज़ निकल रही थी। कुछ देर बाद रवि भी उसकी चूत मे ही झड़ गया और चूत को अपने वीर्य से भर दिया।

रोमा उनकी साइड मे सोते हुए ये चुदाई का काम देख रही थी। वो फिर से गरम होने लगी थी। जब रवि ने सुधा की चूत से अपना लंड निकाला तो रोमा ने उसे पकड़ लिया और बोली “मुझे फिर से चुदवाना है और मेरी चूत की प्यास मिटानी है सुधा ने ये सुनते ही कहा कि “आज के लिए बस इतना ही क्योंकि ये तेरा पहला मौका है और एक बार की चुदाई मे तेरी चूत की हालत ख़राब है। अगर तू और चुदाएगी तो तेरी चूत फट जाएगी और तुझे बहुत तकलीफ़ होगी। लेकिन रोमा नहीं समझ रही थी, तो सुधा ने उसकी चूत मे अपनी एक उंगली घुसाने लगी तो वो चिल्लाने लगी। फिर सुधा ने उसे कहा की “अब तो तुझे इतना तगड़ा लंड घर मे ही मिल गया है। तू ठीक हो ज़ा फिर जब चाहे चुदवा सकती है। अब तो मेरी तरह तू भी रवि की रखेल बन गयी है।

रवि बाथरूम मे जाकर फ्रेश होने लगा। सुधा ने रोमा की चूत को डिटोल से साफ किया और उसे एक पेनकिलर खिलाई। अब मुश्किल ये थी कि रोमा को अपने कमरे तक कैसे पहुँचाया जाए। क्योंकि वो चलना तो दूर की बात है ठीक से खड़ी भी नहीं हो पा रही थी। फिर रवि ने उसे गोद मे उठाया तो सुधा बाहर चेक करने लगी की कहीं उसकी बेटियाँ तो नहीं जाग रही है। लेकिन वो दोनो अपने कमरे मे आराम से गहरी नींद मे सो रही थी। रवि ने रोमा को उसके कमरे मे ले जाकर बेड पर सुला दिया और उसको एक ज़ोरदार किस देकर अपने कमरे मे आकर सो गया। रात बहुत हो चुकी थी सुधा भी रोमा के साथ उसके कमरे में सो गयी।

दोस्तों ये बहुत ही बड़ी स्टोरी है, आप लोग कामुकता डॉट काम साथ जुड़े रहिए। में आप लोगों को आगे की कहानी बताऊंगा कि कैसे रवि ने सोनू को चोदा और मैंने भी मोना को कैसे चोदा ।।

धन्यवाद …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com