bahan ki chudai girlfriend ki madad se 2

प्रेषक : राज …

“बहन की चुदाई गर्लफ्रेंड की मदद से – 1” से आगे की कहानी …

दोस्तों अब मेरी बहन को बहुत गुस्सा आया और उसने कहा कि में तुम्हारी बहन हूँ तुम्हें शर्म नहीं आती है तो मैंने कहा पहले तुम एक औरत हो और उसके बाद मेरी बहन हो। तभी उसने मुझसे बोला कि मम्मी भी एक औरत है और ये कहते ही मुझे बुरा लगा, लेकिन वो शरारत के मूड में आ गई। अब में भी नॉर्मल हो गया था और मैंने पूछा कि कल रात बिना पेंटी क्यों सोई थी? तो उसने गुस्से में आकर कहा कि अपनी बहन से कोई ऐसे पूछता है क्या? तो मैंने कहा कि नहीं सिया पहले कभी ऐसा नहीं हुआ तो पूछ लिया। फिर उसने अपने कूल्हों को दिखाया और कहा कि यहाँ पर कुछ प्रोब्लम है। फिर मैंने कहा कि अपनी पेंट खोलो और दिखाओ तो उसने कहा कि तुझे शर्म नहीं आती क्या? तो मैंने कहा कि जब मैंने सुबह बिना शर्म के सब देख ही लिया है तो इसमें शर्म की क्या बात है  और फिर वो हँसते हुए नाटक करने लगी। तभी मैंने उससे बोला कि चलो दिखाओ। फिर वो कुछ देर तक सोचने के बाद अपनी पेंट ज़रा सी नीचे करके अपने कुल्हें दिखाने लगी, उसको कुछ भी नहीं हुआ था।

फिर मैंने फ़ायदा उठाया और उससे कहा कि यहाँ पर लाल हो गया है और ऑयल से मालिश करने पड़ेगी नहीं तो बहुत दर्द होगा। फिर कुछ देर तक नाटक करने बाद उसने हाँ कर दी और अपना इलास्टिक पेंट ज़रा सा नीचे करके उल्टा सो गई। अब में उसकी गांड में ऑयल लगा रहा था, उसकी क्या मस्त गांड थी? जैसे कोई पॉर्न स्टार की होती है। अब वो शरमा रही थी और अपनी पेंट ज़्यादा नीचे नहीं कर रही थी। अब में मालिश के नाम पर सिर्फ मज़ा ले रहा था। तभी उसने मुझसे पूछा कि तुमने पहले कभी किसी को ऐसे देखा है क्या? तो मैंने कहा नहीं देखा है। वो बोली झूठ मत बोल, कल रात को तू तेरी गर्लफ्रेंड के साथ बहुत गंदी-गंदी बात कर रहा था। फिर में समझ गया कि कल रात को वो जाग रही थी और मज़े ले रही थी। फिर मैंने उससे बोला कि ऐसा है, लेकिन मैंने कभी किसी की चूत नहीं देखी है, तो उसने कहा भैया झूठ मत बोलो, मैंने तुम्हारा वो देखा तो मुझे तुम्हारा वो बहुत अच्छा लगा।

फिर मैंने कहा क्या देखा तो? तो उसने शरमाते हुए कहा कि तुम्हारा लंड देखा। फिर मैंने पूछा तुमने कब देखा? तो उसने बोला कि जब तुम मुझे सॉरी बोल रहे थे। में हंसने लगा और उससे पूछा कैसा लगा? तो वो गुस्से से कहने लगी कि मम्मी के सामने बताउंगी कैसा था? अब मुझे उसके मुँह से लंड और चूत सुनने में बहुत अच्छा लग रहा था और जोश भी आ रहा था। फिर मैंने जोश में आकर उसके कूल्हों की मालिश करते-करते उसकी पेंट को ज़रा सा नीचे कर दिया और मेरी एक उंगली को कूल्हों में डालने की कोशिश करने लगा। तभी वो गुस्सा करने लगी और बस करो कहने लगी।

फिर मैंने बोला कि पूरी पेंट निकाल दो तो में ठीक से मालिश करूँगा, मुझसे ऐसे मालिश नहीं हो रही है। फिर उसने हाँ कहा, लेकिन आँखे बंद करके मालिश करो। फिर मैंने हाँ कहते ही उसका इलास्टिक पेंट पूरा निकाल दिया, वो उल्टी सोई थी। फिर कुछ देर तक मालिश करने के बाद में उसकी टाँगो के बीच में उसकी चूत को टच करने लगा। अब वो गर्म होने लगी थी और कहने लगी कि तुम कुछ ग़लत कर रहे हो। फिर मैंने भी गुस्से में कहा कि अगर गलत हो रहा है तो अपनी आँख बंद करके रखो और में ज़ोर से अपने दोनों हाथों से उसके कूल्हों को दबाने लगा। वो फिर से चुप हो गई और फिर में अपने हाथ से उसकी चूत को टच करने लगा। वो कुछ नहीं बोली और मुझमें हिम्मत आ गई और मैंने अपनी एक उंगली को उसकी चूत में डाल दिया। उसने अपनी बॉडी को फुल टाईट करते हुए कहा कि भैया बहुत दर्द हो रहा है।

फिर मैंने उससे सॉरी कहा, तो उसने कहा इट्स ओके भैया, लेकिन में अपनी उंगली को चूत से बाहर नहीं निकाल रहा था। फिर धीरे से में अपनी उंगली को उसकी चूत में घुसाने लगा, लेकिन उंगली चूत के अन्दर नहीं जा रही थी इसलिए मेरी बहन ने बिना कुछ बोले अपने पैरो को खोल दिया। तभी मैंने ज़ोर से अपनी उंगली को उसकी चूत में घुसा दिया और उसने मेरे हाथ पकड़ लिए। फिर मैंने 5 मिनट तक उंगली को उसकी चूत में अन्दर बाहर किया और वो अब सिसकियां ले रही थी। फिर मैंने उसे सीधा सोने के लिए कहा तो तभी वो ना कहने लगी और फिर मैंने ही उसे सीधा किया और उसकी चूत को देखने लगा। तभी उसने कहा कि भैया सुबह से ऐसी क्या बात है, ऐसे क्यों घूर रहे हो? कहते हुए अपने हाथों से चूत को ढकने करने लगी। तभी मैंने उससे कहा कि मुझे चूत चाटनी है, तो उसने कुछ नहीं कहा सिर्फ़ अपना हाथ चूत के ऊपर से हटा दिया।

फिर मैंने उसकी चूत को एक किस किया और पूछा कैसा लगा? तो उसने कहा भैया कल रात से भी अच्छा लगा, तो मैंने नाटक करते हुए उससे पूछा कि कल रात को क्या हुआ? तो वो बोली कि मुझे सुबह तक वो सपना ही लगता था, लेकिन फिर जब में उठी तो चूत के ऊपर तुम्हारे वीर्य के धब्बे पड़े हुए थे, तब मुझे वो सपना सच लगा। फिर मैंने हँसते हुए उसकी टी-शर्ट और ब्रा निकाल दी और उसकी चूत को चाटने लगा। अब वो कह रही थी कि तू बहुत बड़ा बहनचोद है, चाटो और चाटो कहने लगी। अब मुझे उसकी नमकीन चूत चाटना बहुत अच्छा लग रहा था और में मेरे हाथ से उसके बूब्स को दबा रहा था और चूत भी चाट रहा था। अब वो बहुत बुरी तरह से बात कर रही थी और अपने एक हाथ से मेरे बालों को ज़ोर से पकड़ रही थी। फिर में अपनी पेंट निकाल कर पूरा नंगा हो गया और उसको मेरा लंड चूसने को कहा तो वो मना करने लगी और मैंने उसे ज्यादा फोर्स नहीं किया। तभी में उसके ऊपर सोकर मेरा लंड उसकी चूत में डालने लगा और वो ना कहने लगी, तो मैंने पूछा क्यों? तो उसने कहा कि तेरी आधे इंच की उंगली से इतना दर्द हो रहा है तो ऐसे में इतना बड़ा लंड इसमें जा नहीं सकता, प्लीज चुदाई को भूल जाओ।

फिर मुझे गुस्सा आया और मैंने उससे पूछा कि आज तक तुमने किसी मर्द से चुदवाया नहीं है क्या? तो उसने बताया कि में तेरी जैसी चोदूं नहीं हूँ, कहकर हंसने लगी। फिर तभी मुझे मेरी गर्लफ्रेंड का फोन आ गया और मेरी बहन मुझे स्पीकर पर बात करने को फोर्स करने लगी, लेकिन तब तक फोन कट हो गया। फिर उसने पूछा रात वाली थी क्या? तो मैंने हाँ कहा और मेरी बहन मुझे फिर से कॉल करने के लिए कहने लगी। अब मुझे चोदना था और वो नहीं मान रही थी। फिर मैंने उससे कहा कि उसको भूल जाओ बस मुझे तेरी चूत में लंड डालना है, तभी उसने कहा भैया में ले लूंगी अगर तुम स्पीकर फोन पर बात करो तो। फिर मैंने उसे हाँ कह दिया और उससे बोला कि में तेरी चूत में लंड डालकर बात करूँगा।

फिर मेरी बहन ने हाँ कहा, लेकिन फोन मेरे हाथ में होगा तुम कॉल कट नहीं करोंगे, तो मैंने उसे हाँ कहा और उसके हाथ में फोन दे दिया। फिर उसने अपनी दोनों टाँगो को खोलकर धीरे से डालो कहने लगी, फिर मैंने हाँ कहते हुए उसकी चूत के ऊपर लंड रखकर डालना चालू कर दिया, लेकिन उसकी चूत बहुत टाईट थी, जिससे लंड अन्दर नहीं जा रहा था। अब वो अपने एक हाथ से मेरे लंड को अन्दर डालने में मेरी मदद कर रही थी और एक हाथ से फोन करने लगी। फिर मेरी गर्लफ्रेंड ने फोन उठाया और सीधा पूछने लगी कि क्या कल रात तुमने सिया की चूत को देखा तो अब मेरी बहन मुझे घूर रही थी और मैंने हाँ कहते हुए में मेरी बहन की टाईट चूत में लंड डालने की कोशिश कर रहा था। फिर मेरी गर्लफ्रेंड ने पूछा कि चूत कैसी लगी? मेरे से भी ज्यादा हॉट है क्या? तो मैंने कहा हॉट भी है और तेरे से टाईट भी है, तो उसने कहा क्या? तुम्हें कैसे पता चला, तुमने चोद दिया क्या? तो मैंने कहा नहीं बस उंगली डाली थी। फिर मेरी गर्लफ्रेंड ने कहा वाह्ह उसे कुछ पता चला? तो मैंने कहा कुछ पता नहीं चला, तो वो बोली तेरी बहन बहुत बड़ी रंडी है, शायद उसे पता चल गया होगा, साली रंडी मज़े ले रही होगी।

अब मेरी बहन को बहुत गुस्सा आ रहा था और मैंने मेरी गर्लफ्रेंड से कहा कि प्लीज यार गाली मत दो, तो उसने गुस्से में कहा कि गाली क्यों ना दूँ? उस रंडी की वजह से तुम पाँच महीनों से मेरी चूत को उसकी चूत कहकर चोद रहे हो और अभी उसकी चूत देखने के बाद मेरी चूत को भूल जाओगे और वो कहने लगी कि अभी तुमने अपनी बहन की चूत में उंगली डाली है और अब अगली बार तुम्हारी माँ की गांड में भी उंगली डालोगे। तो मैंने कहा नहीं डियर, तो उसने पूछा और बोली कि उस रंडी की चूत में सिर्फ़ उंगली डाली थी या लंड भी डाला था। मैंने मेरी बहन कि तरफ देखा तो वो अब बहुत गुस्से में थी। फिर मैंने सोचा कि अगर अब ज़्यादा हुआ तो परेशानी हो सकती है। फिर मैंने थोड़ा जोर लगाया तो मेरा आधा लंड मेरी बहन की चूत में घुस गया और मेरी बहन चिल्लाने लगी और अब मुझे भी दर्द हो रहा था।

तभी मेरी गर्लफ्रेंड ने पूछा वहाँ पर कौन है? तो मैंने तुरंत अपनी बहन से फोन लेकर मेरी गर्लफ्रेंड से कहा कि में बाद में कॉल करूँगा कहकर फोन स्विच ऑफ कर दिया। फिर मैंने देखा तो मेरी बहन की आँख में से पानी आ रहा था, लेकिन मुझे सिर्फ़ एक प्यासी चूत दिख रही थी। फिर में धीरे-धीरे उसकी चूत में मेरा लंड आगे पीछे करने लगा। फिर करीब 2 मिनट के बाद मेरा स्पर्म उसकी चूत पर गिर गया, लेकिन मैंने अपना लंड उसकी चूत में से बाहर नहीं निकाला। फिर मैंने धीरे से अपना लंड बाहर निकाला और उसे सॉरी कहा, तो वो कुछ नहीं बोली और अब उसकी चूत से खून और आँख से पानी निकल रहा था, शायद उसे अब भी बहुत दर्द हो रहा था।

फिर उसने 15 मिनट तक बात नहीं की और उसके बाद वो अपनी चूत साफ करने लगी तो मैंने उसकी मदद की। वो अब बिल्कुल चुप थी और फिर उसने अपनी टी-शर्ट और स्कर्ट पहनी। शायद उसे बहुत दर्द हो रहा था इसलिए वो बिना चड्डी पहने ही हॉल में चली गयी और में नंगा ही उसके पीछे-पीछे जाने लगा। फिर मैंने उससे पूछा क्या हुआ? तो उसने बताया कि मुझे एक घंटा आराम करना है और मुझे बहुत दर्द हो रहा है ये कहकर वो अपने बेडरूम में चली गयी और में कपड़े पहनकर बाहर से लंच लेने चला गया। फिर मैंने आकर उसको लंच करने के लिए उठाया। अब वो खाना खाने के बाद कुछ ठीक लग रही थी। फिर वो फिर से बेडरूम में गयी और 10 मिनट के बाद मुझे आवाज दी, तो मैंने पूछा कुछ चाहिए तो उसने कहा मुझे डर लग रहा है तो प्लीज मुझसे लिपटकर सो जाओ और प्लीज़ कुछ मत करना।

फिर में भी उसको हग करके सो गया और फिर जब शाम को लैंडलाईन का फोन रिंग हुआ तो में उठा और टाईम देखा तो 8 बज गये थे। वो भी बेड से उठ गयी। फिर मैंने उससे कहा कि तुम सो जाओ, में बाहर से खाना लेकर आता हूँ और तुम आराम करो। फिर उसने हाँ कहा और नहाने चली गयी। फिर में खाना लेकर आया तो मैंने देखा कि वो माँ की नाईटी पहने थी। फिर हमने खाना खाया और वो उसके बारे में कुछ भी बात नहीं कर रही थी। अब मुझे डर लग रहा था कि फिर कभी में उसकी चूत देख पाऊँगा या नहीं। फिर बेडरूम में जाते ही मैंने उससे सॉरी कहा तो उसने कुछ नहीं कहा और एक स्माइल देकर बालकनी में खड़ी हो गयी। फिर में उसको बेड पर लाकर पूछने लगा कि ऐसे चुप क्यों हो? कुछ बात करो ना तो वो बोली कि कुछ नहीं दर्द हो रहा था। फिर मैंने उससे पूछा कि क्या में तेरी चूत की मालिश करूँ? तो उसने बताया कि में रोज़ सोने का अंडे देने वाली मुर्गी बनना चाहती हूँ। अगर तुमने मालिश के अलावा कुछ ज़्यादा किया तो तुम कभी मेरी चूत नहीं देख सकते हो कहकर अपनी नाईटी निकालने लगी। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर में तेल लेकर आया और उसकी चूत को देखकर मुझे भी बहुत बुरा लगा। फिर आधे घंटे तक मालिश करने के में बाथरूम जाने लगा तो उसने कहा कि देर हो गई है। अगर तुम मुठ मारने के लिए जा रहे हो तो यहाँ पर ही मारो। फिर मैंने कहा कि नहीं तुम ऐसी हालत में हो और में कैसे ऐसा कर सकता हूँ। फिर उसने कहा कि तुम 1 घंटे से मेरी चूत की मालिश कर रहे हो और तुम भी एक मर्द हो में समझ सकती हूँ, निकाल अपना पजामा कहकर हंसने लगी। फिर में नंगा हुआ और मैंने मुठ मारना शुरू कर दिया। अब वो पूरी बॉडी पर चादर डालकर सब देख रही थी। फिर 10 मिनट के बाद भी जब मेरा वीर्य नहीं आया तो उसने पूछा में कुछ मदद करूँ। तो मैंने कहा करना ही है तो बस तुम्हारी चादर हटा लो, तो उसने हटा लिया और फिर में उसकी चूत को देखकर मुठ मारने लगा। फिर कुछ देर के बाद मेरी बहन भी अपने हाथों से मेरा लंड हिलाने लगी। उसके हाथ के स्पर्श से वीर्य जल्दी बाहर आ गया।

फिर रात को में एक हाथ उसकी चूत पर रखकर और वो मेरा लंड पकड़कर हम दोनों ऐसे ही नंगे सो गये। फिर जब में सुबह उठा तो मैंने उसके माथे पर एक गुड मोर्निंग किस दिया और मुझे आज सेक्स करने का मूड नहीं था। फिर मेरी बहन ने कहा सिर्फ़ माथे को किस किया तो उसने कहा कि मेरी बहन को गुस्सा आ जायेंगा। फिर मैंने पूछा कि तुम्हारी कौन सी बहन? और मेरे पूछते ही उसने अपनी चूत दिखाई। फिर मैंने उसकी चूत को एक किस किया और 10 मिनट तक चाटा और फिर में फ्रेश होने चला गया। फिर मेरी बहन ने मुझे चाय बना कर दी और वो पीकर हम दोनों ने मिलकर शॉवर बाथ लिया और मेरी बहन ने मेरा लंड पकड़कर सुबह-सुबह मुठ मारी। फिर ब्रेकफास्ट के बाद मेरी बहन ने मुझसे पूछा कि कॉलेज नहीं जाना तो मैंने बताया कि नहीं, मुझे आज मेरा पूरा लंड अपनी बहन की चूत में घुसाना है तो उसने हंसते हुए पूछा कि फोन वाली रंडी को कितनी बार चोदा है? तो मैंने कहा 2 साल से चोद रहा हूँ और वो पूछने लगी कि किसी आंटी को चोदा है? तो मैंने कहा नहीं चोदा है। तो वो बोली किसी ना किसी आंटी की चूत देखी होगी? तो मैंने कहा नहीं देखी है। फिर वो बोली मम्मी की चूत भी नहीं देखी है क्या? तो मैंने कहा नहीं देखी है।

फिर मैंने उससे पूछा कि तुमने मम्मी की चूत देखी है क्या? तो उसने कहा कि बहुत बार देखी है, जब भी माँ हेयर रिमूवर लगाती है तो मदद के लिए मुझे ही बुलाती है। मैंने कहा तुम बहुत लकी हो तो उसने कहा भैया इसमें लकी क्या है? मैंने चूत बहुत सी देखी है मगर क्या फ़ायदा? मुझे तो सिर्फ़ मम्मी की चूत को देखना अच्छा लगता है। मैंने पूछा क्यों? तो उसने बताया कि वो चूत बहुत काली है और उसका छेड़ बहुत बड़ा है। उसकी चूत में तो तेरा लंड आराम से अन्दर चला जायेगा। फिर मैंने पूछा कि मम्मी की इतनी तारीफ़ क्यों कर रही हो? कही मुझे चुदवाने का प्लान तो नहीं है? तो उसने हंसते हुए कहा कि नहीं भैया में तो बस मम्मी की चूत के छेद का साईज़ देखकर सोच रही थी कि पापा का लंड कितना बड़ा होगा? वो ये कहकर मेरा लंड ज़ोर से पकड़कर हिलाने लगी।

फिर मैंने उससे पूछा कि तुमने तो बहुत चूत देखी है तो मुझे भी बताओं ना और किस-किस की चूत देखी है। तो उसने कहा, कॉलेज फ्रेंड्स, मम्मी की और शिवानी भाभी और उसकी बेटी सोनिया की चूत देखी है। फिर मैंने उसके कपड़े निकाल कर उसे पूरा नंगा कर दिया और उसके बूब्स को मेरे दातों से काटने लगा।

अब वो मज़े लेते हुए बोली कि भैया आज धीरे से चोदना तो मैंने हाँ कहकर उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया। दोस्तों अगर जन्नत है तो बहन की चूत चाटने में है, वाह्ह क्या चूत है? फिर 10 मिनट तक चूत चाटने के बाद मैंने धीरे से लंड उसकी चूत में घुसाया तो अब वो बहुत दर्द सहन कर रही थी और में जोश में आकर धक्का दे रहा था। अब वो सिर्फ़ सिसकियां लेती हुई अपनी टाँगे ऊपर करके चुदवा रही थी। फिर मैंने उससे पूछा कि पानी पीना है या चूत में डाल दूँ, तो उसने कहा कि चूत में ही डाल दो, में गोली खा लूंगी। अब में उसे ज़ोर-जोर से चोद रहा था और मेरा स्पर्म निकल ही नहीं रहा था, क्योंकि सुबह से 3 बार मुठ मारी थी। अब मेरी बहन भी जोश में आ गई और कहने लगी कि पूरा लंड डालो। फिर मैंने जोश में आकर एक ज़ोर का धक्का दिया और आगे पीछे करने लगा। अब मेरी बहन भी अपनी गांड को उछाल-उछाल कर चुदवा रही थी। फिर कुछ देर के बाद उसकी चूत में से पानी निकल गया और मैंने लंड बाहर निकाल दिया। अब मैंने मेरे लंड को देखा तो वो खून से लाल हो गया था।

फिर मैंने उससे कुछ नहीं कहा तो उसने ही मुझसे पूछा कि भैया मैंने अपनी सील अपने पति के लिए बचाकर रखी थी, आपको तोड़कर कैसा लगा? तो मैंने उससे कहा कि आज से में ही तुम्हारा पति हूँ और फिर से लंड उसकी चूत में घुसा दिया और ज़ोर-ज़ोर से धक्के मारने लगा। अब वो बहुत मज़ा ले रही थी और दर्द की वजह से उसकी आँख में पानी आ रहा था। फिर कुछ मिनट के बाद जब मेरा स्पर्म उसकी चूत में गिरा तो वो खुशी से पागल हो गयी और उसने कहा भैया आज तो कल से भी ज़्यादा दर्द हो रहा है, लेकिन मुझे खुशी इस बात की है मैंने 23 साल तक एक उंगली भी चूत में अन्दर नहीं डाली थी और आज मैंने तुम्हें चूत गिफ्ट कर दी। तो मेरी आँख में भी खुशी के आँसू आ गये और मैंने भी उसे हग करते हुए थैंक्स कहा और उसके बाद 1 हफ्ते तक मैंने उसे नहीं चोदा, क्योंकि उसे ठीक से चला भी नहीं जा रहा था।

फिर जब वो नॉर्मल हुई तो तब तक पापा और माँ आ गये और अब इस बात को 2 साल हो गये है और वो इन 2 सालों में कभी भी, कहीं भी मुझे चूत देती थी और अब अगले 8 महीने के बाद उसकी शादी है इसलिए जीजू को शक नहीं हो सके इसलिए में अभी सिर्फ़ उसकी रोज़ गांड मार रहा हूँ ।।

धन्यवाद …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com