bhabhi ne courant lagaya

प्रेषक : ध्रुव …

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम ध्रुव है और में दिल्ली से हूँ। में 21 साल का हूँ और में दिखने में स्मार्ट हूँ ऐसा सब कहते है। में नॉएडा से बी.टेक कर रहा हूँ और ये बात नवम्बर 2010 की है, हमारे यहाँ किराये से एक कपल रहने आया था, भैया का नाम नितिन था और भाभी का नाम शालिनी (शालू) था और शालू क्या माल थी? गोरी इतनी कि पूछो मत। फिगर साईज 32-30-36। वो जीन्स में निकल जाए तो उसकी गांड देखकर लोग सड़क पर ही पागल हो जाए, वो ज्यादातर सूट पहनती थी। में तो उसे देखते ही उसका आशिक़ हो गया था। में रात दिन उसे चोदने के सपने देखा करता था और सोचता था कैसे बात करूँ? लेकिन मुझे मौका नहीं मिल रहा था।

फिर एक दिन में सीढ़ियों से ऊपर चढ़ रहा था, तो भाभी मुझे खुद रोककर बोली कि आपसे एक काम है। तो मैंने खुशी में हाँ बोल दिया, तो वो बोली कि अंदर आ जाओ। फिर में और खुश हो गया, तो वो अंदर जाकर बोली कि बेड सरकवाना है, तो मैंने कहा कि ओके। अब एक तरफ से में धक्का दे रहा था और दूसरी तरफ से वो खींच रही थी। फिर जैसे ही वो सामने झुकी तो मैंने उसके बड़े-बड़े गोरे बूब्स देखे और शालू के बूब्स ऐसे हिल रहे थे जैसे अभी बोलेगें कि आओ दूध पी लो, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। फिर थोड़ी देर के बाद में वहाँ से चला गया। फिर कुछ दिन हमारी कोई बातचीत नहीं हुई। शालू भाभी के पति 8 बजे के आस पास काम से वापस आते थे, तो में भी जानबूझ कर उसी समय बाइक पर घूमकर वापस घर आता था। अब भैया और मेरी बातचीत बढ़ने लग गई थी, अब में तो बस भाभी को चोदने के सपने देखता था।

फिर वो हमारे घर अचानक से कुछ दिन कपड़े सुखाने के लिए डालने आने लगी। अब मौका अच्छा था, अब वो हर दूसरे तीसरे दिन आने लगी थी। अब में जब भी बालकनी से नीचे देखता था, तो भाभी पड़ोस की औरतों के साथ बैठी रहती थी। में उसके सूट में से उभरते बूब्स देखा करता था, उसने मुझे कई बार नोटिस किया था। अब पहले तो उनका रिएक्शन अजीब हुआ करता था, लेकिन एक दिन उसने स्माइल कर दी, तो में खुशी से पागल हो गया। फिर एक दिन वो हमारे यहाँ कपड़े सुखाने आई, तो मैंने अचानक से गिरने का नाटक किया और कहा कि कमर में मोच आ गई है। फिर वो भागकर आई और फ्रिज के ऊपर से बाम उठाई और मेरी कमर पर लगाने लगी। अब मेरा लंड खड़ा हो गया था और इतनी खूबसूरत लड़की अगर कमर पर मसाज करेगी तो खड़ा तो होगा ही। अब में समझ गया था कि उसकी मुझमें दिलचस्पी है। फिर मैंने उन्हें उनका हाथ नीचे करने को कहा तो उनका हाथ मेरी गांड तक आ गया।

अब वो मदहोश होने लगी थी और नीचे मेरी पेंट के अंदर अपना हाथ मारने लगी थी। फिर में सीधा हो गया और वो धीरे-धीरे नीचे आ गई। फिर मैंने उसके लिप्स को टाईट किस किया और 5-7 मिनट तक स्मूच करने लगा और उसकी कमर पर अपना हाथ रखकर फैरता रहा। अब वो मेरे ऊपर और में उसके नीचे था। फिर मैंने पीछे से उसकी गांड में अपनी एक उंगली डाल दी और उसे नीचे कर दिया और उसके होंठ चूसते-चूसते उसके बड़े-बड़े बूब्स दबाने लगा। अब में उसकी चूत में अपनी उंगली डालकर अंदर बाहर करने लगा था और वो सिसकियाँ मारने लगी थी। फिर मैंने उसका सूट उतार दिया और अब वो मेरे सामने सिर्फ़ बिकनी में थी, उफ़फ्फ़ उसका बदन। अब मैंने उसे पूरा नंगा कर दिया था, अब में पागल हो गया था और में ज़िंदगी में पहली बार किसी लड़की को नंगा करके चोद रहा था। जिसे सारा मौहल्ला चोदना चाहता था, वो अब नंगी होकर मेरे हाथ से अपनी चूत में उंगली डलवा रही थी।

अब में उसके बूब्स चूसने लगा था और 10 मिनट तक चूसता रहा। फिर मैंने अपना मुँह उसकी चिकनी चूत पर रख दिया और जोर-जोर से चूसने लगा और 10 मिनट तक उसकी नमकीन चूत का रस पिया।  तो वो बोली कि कितना तड़पाओगे मेरे जानू? अब अपनी पेंट उतारकर मेरी चूत में डाल भी दो। फिर मैंने कहा कि बस जोश ख़त्म हो गया, तो वो बोली कि 440 वॉल्ट का बिजली का झटका हूँ एक बार जो लग जाऊं तो जल्दी बंदा कंट्रोल में नहीं आता। फिर मैंने कहा कि मुझे भी दो ज़रा 440 वॉल्ट के झटके और फिर मैंने अपनी पेंट उतारी और पूरा नंगा हो गया। अब वो बहन की लोड़ी मेरा 6 इंच का लंबा और 4 इंच मोटा लंड देखकर हैरान हो गई थी और बोली कि कितनी लड़कियाँ चोद चुका है? जो तेरा इतना बड़ा हो गया है, तू तो तेरे भैया का भी बाप है। फिर मैंने उसे मेरा लंड अपने मुँह में लेने को कहा, तो पहले तो उसने मना किया, लेकिन फिर वो मान गई। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर उसने जैसे ही मेरा लंड अपने रसीले मुँह में लिया, तो मेरे पूरे शरीर में बिजली सी दौड़ गई। मैंने पहली बार किसी के मुँह में अपना लंड दिया था। अब वो मेरा लंड ऐसे चूस रही थी जैसे जन्मों की प्यासी हो और जैसे कि ब्लू फ़िल्मों में चूसते है, वो वैसे ही चूस रही थी। फिर मैंने कहा कि बड़ी फ़िल्में देखकर सीखा है, तो वो बोली कि हाँ, क्या करूँ तेरे भैया तो फट्टू है? तो इतनी देर में उसे याद आया कि उसकी 2 साल की बेटी घर पर अकेली है और फिर वो स्मूच करके अपने घर चली गई। अब मेरा लंड उसकी चूत में देना तो रह ही गया और मेरा मजा अभी भी अधूरा था। फिर में अगले दिन उनके घर गया तो भैया भी घर थे और ऑफिस जाने के लिए तैयार हो रहे थे। फिर में उन्हें नमस्ते करके पानी लेने के बहाने अंदर गया तो भाभी नाइटी में थी और ब्रेकफास्ट बना रही थी। अब उनकी गांड की लाईन नाइटी में से साफ-साफ दिख रही थी। फिर में उनके पीछे गया और अपना लंड लाईन के बीच में रखकर मसलने लगा, तो वो मधहोश होने लगी और अयाया, अयाया करने लगी। फिर मैंने उसके मुँह पर अपना एक हाथ रखकर उसे चुप करवा दिया, तो वो मेरी उंगली अपने मुँह में डालकर चूसने लगी।

अब मेरा लंड टाईट हो गया था और उसकी गांड में घुसा दिया था और मेरे अंदर करंट सा दौड़ गया था।  फिर में चुपचाप अपना नंबर उसे एक काग़ज़ पर लिखकर दे आया और भैया के पास चला गया। फिर रात को उसने मुझे फ़ोन किया, तो थोड़ी देर बात करने के बाद सेक्स की बातें होने लगी। फिर मैंने और उसने हमारे साथ सेक्स का अनुभव शेयर किया। तो वो बोली कि मिलन अभी आधा अधूरा है, तो मैंने कहा कि बहुत जल्द पूरा हो जाएगा। फिर वो बोली कि मुझे भाभी नहीं शालू बोला कर और ये भी बोली कि मैंने तुझे पटाने की कोशिश की थी, कभी अपने बड़े बूब्स दिखाकर, तो कभी गांड, लेकिन तू तो तड़पा कर मज़े देने वाला है। तो मैंने कहा कि हाँ क्या करूँ? तड़पने में ज्यादा मज़ा है। फिर अगले दिन वो फिर से कपड़े सुखाने आई और जैसे ही वो कपड़े उठाने झुकी तो उसकी मोटी गांड देखते ही में पागल हो गया और उसकी गांड में अपना लंड घुसा दिया और झटके मारने लगा। वो फिर से चिल्लाई, तो मैंने उसका मुँह अपने हाथ से बंद कर दिया।

फिर में थोड़ी देर तक तो उसकी गांड में ज़ोर-ज़ोर से झटके मारने लगा। फिर मैंने उसे गोद में उठाया और बेड पर सीधा लेटा दिया। फिर थोड़ी देर तक स्मूच करते हुए उसके बूब्स दबाए और उसकी चूत में उंगली देता रहा और फिर मैंने हम दोनों के कपड़े उतार दिए और उसकी गांड में फिर से अपने लंड के झटके मारने लगा और 15-20 मिनट के बाद वो झड़ गई और उसकी चूत में से पानी निकलने लगा।  अब उसने ज़बरदस्ती मेरा मुँह अपनी चूत पर लगा दिया था और बोली कि पानी पी लो। फिर मैंने उनकी चूत का पानी पी लिया, क्या टेस्ट था? मुझे तो मज़ा आ गया था। फिर मैंने उसका पानी साफ किया और फिर उसके मुँह में अपना लंड डाल दिया और फिर मेरे लंड से पानी निकाला तो काफ़ी सारा पानी उसके मुँह पर गिर गया और आधा उसके मुँह के अंदर चला गया। अब वो मज़े से पानी पीने लगी थी और फिर वो अपने मुँह पर से पानी साफ करके पीने लगी।

फिर थोड़ी देर तक मैंने उसके बूब्स दबाए और फिर में बर्फ लाया और उसके पूरे बदन पर फैरी और वो तड़पने लगी और वो काफ़ी हद तक तड़पी थी। फिर मैंने अपने लंड पर तेल लगाया और धीरे से उसकी चूत पर रख दिया और जोर से एक झटका दिया और ज़ोर-ज़ोर से झटके मारता रहा। फिर वो जोर से चिल्लाई, तो मैंने उसका मुँह बंद करने के लिए उसके मुँह पर अपना मुँह रखकर उसका मुँह बंद कर दिया और उसके होंठ चूसता रहा और फिर ये सारा सिलसिला 5 घंटे तक चला। फिर 5 घंटे तक मैंने उसे ऐसा चोदा कि वो आज तक अपनी ज़िंदगी में कभी नहीं चुदी होगी। अब हमारे पानी से बेडशीट भी गीली हो गई थी। फिर शाम हो गई, अब 7 बज गये थे और 8 बजे उसके पति के आने का समय था, तो वो घर चली गई। फिर रात को मेरे कहने पर उसने अपनी कुछ गंदी फोटो जो उसने खुद खींची थी, मुझे भेज दी, तो मैंने रात को उन्हें देखकर मुठ मारी और सो गया।

फिर इसी तरह हर रविवार को वो आती या महीने में एक बार कपड़े सूखाने के बहाने आती और हम 5- 6 घंटे तक सेक्स करते और खूब चुदाई होती। अब वो मुझे अपना पति बोलने लगी थी और में उसे बेड पर अपनी पत्नी की तरह प्यार देता था और खूब मजा करता था ।।

धन्यवाद …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com