dost ki biwi ko randi banakar choda

प्रेषक : शिवम् …

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम शिवम् है और में जालंधर से हूँ। आज में आपको एक रियल स्टोरी बता रहा हूँ। मेरा एक दोस्त है और उसकी बीवी जो कि वो जालंधर की ही रहने वाली है। में अक्सर अपने दोस्त के घर जाया करता था और उसकी बीवी बड़ी ही सुंदर है। उसके बूब्स ज्यादा बड़े नहीं है, लेकिन फिर भी ठीक ही है और उसकी स्माईल बड़ी ही स्वीट है। उनका एक बेटा है जो कि अभी 6-7 साल का ही है। मेरे दोस्त के बहुत ज़िद करने पर में उनके बेटे को कोंचिग पढ़ाने को तैयार हो गया। अब में दोपहर को उसके घर पर उसे पढ़ाने जाया करता था और उस समय मेरा दोस्त अपने काम पर होता था और भाभी जिनका नाम सुमन है, एक दिन में दोपहर को जब उसके घर पहुंचा तो घर पर कोई नहीं था, सिर्फ़ अकेली सुमन थी। आज उनका बेटा अपनी मौसी के घर पर गया हुआ था।

मैंने बेल बजाई तो दरवाज़ा खुला तो दरवाजे पर सुमन थी। उसने एक स्वीट सी मुस्कान दी और अंदर आने को कहा। में अंदर चल गया और उस समय उसने नाईटी पहन रखी थी और उसके बाल खुले थे। फिर उसने मुझे बैठने को कहा और वो अंदर चली गई, काफ़ी देर होने के बाद भी जब वो नहीं आई तो में अंदर गया और इधर उधर देखा तो वो बाथरूम में थी और बाथरूम का दरवाज़ा लॉक नहीं था। फिर मैंने धीरे से अंदर देखा तो वो एकदम नंगी थी और नहा रही थी। उसके मुँह पर साबुन था तो इस कारण वो मुझको शायद देख नहीं सकी। फिर में वापस आया और मैंने डोर लॉक कर दिया और वापस बाथरूम की तरफ गया। अब मेरा लंड खड़ा हो गया था और अब में वहीं पर खड़ा रहा और उसको देखता रहा। फिर मैंने अपने मोबाईल कैमरे से उसकी क्लिप भी बना ली थी और वो बहुत ही सेक्सी थी और बार-बार अपने बूब्स को दबा रही थी और अपनी चूत को रगड़ रही थी। में समझ गया कि उसको मेरा दोस्त पूर्ण रूप से संतुष्ट नहीं कर पाता है और जब वो नहाकर निकल रही थी तो में वापस आकर उसी जगह बैठ गया।

फिर कुछ देर के बाद वो मेरे लिए चाय बना कर लाई और मेरे पास बैठ गई। मेरा लंड अभी भी टाईट था। फिर मैंने डरते-डरते उससे कहा कि भाभी में आपसे कुछ पूछ सकता हूँ तो वो मुस्कुरा कर बोली कि पूछो। फिर मैंने कहा कि पूछना तो नहीं चाहिए है लेकिन पर्सनल है, लेकिन पूछ रहा हूँ, क्या विक्की और आप की शादीशुदा लाईफ सुखी है? तो वो बोली हाँ हम खुश है। फिर मैंने कहा कि नहीं आपकी सेक्स लाईफ तो.. उसने मेरी तरफ देखा और कुछ देर खामोश रही और फिर बोली कि तुम्हारे दोस्त मुझको संतुष्ट नहीं कर पाते है। अब मेरी भी हिम्मत बढ़ी और मैंने पूछा कि आप तो इतनी खूबसूरत हो, सेक्सी हो, आप पर तो कोई भी फिदा हो जायेगा, आप कोई दूसरा रास्ता क्यों नहीं अपना लेती हो? तो वो बोली कैसा रास्ता?

फिर मैंने कहा कि किसी दूसरे से संपर्क करो तो वो बोली कि क्या तुम मुझको संतुष्ट करोंगे? यह सुनते ही मेरी तो जैसे खुशी का ठीकाना ही नहीं रहा। में तुरंत उठा और सुमन को अपनी बाहों में भर लिया और उसके लिप पर एक किस किया और हम दोनों करीब 5 मिनट तक एक दूसरे को किस करते रहे और वो मुझसे बोली कि पहले दरवाज़ा तो बंद कर दो। फिर में बोला कि वो तो मैंने पहले ही बंद कर दिया है। उसके बाद हम बेडरूम में गये और उसने बिना देर लगाए मेरे सारे कपड़े उतार दिए और मेरे लंड को अपने होठों में लेकर दबाया और चूसने लगी। अब में भी अपने होश खोता जा रहा था। फिर मैंने भी उसका गाउन खोल दिया। उसने अंदर कुछ भी नहीं पहन रखा था, अब वो बिल्कुल नंगी थी। अब हम दोनों बेड पर लेट गये और वो मेरे ऊपर चढ़ गयी और बोली कि कब से मेरे मन में एक प्लान था कि में तुमसे चुदवाऊँ और आज मेरी इच्छा पूरी हो गई है। फिर में भी बोला कि भाभी में भी आपको चोदना चाहता था, यह सुनकर वो बोली कि मेरे राजा देर किस बात की है और आज में तुम्हारे पास हूँ जिस तरह से चाहो मुझको चोदो, यह चूत बड़ी प्यासी है। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर मैंने उसके टाईट बूब्स को धीरे-धीरे दबाना चालू किया और अब वो धीरे-धीरे गर्म हो रही थी। फिर उसने पीछे हटकर मेरे लंड को मुँह में लिया और जोर-जोर से चूसने लगी। अब में भी उसकी चूत लेने के लिए तड़प रहा था। करीब 15 मिनट के इस खेल के बाद मैंने उसे लेटा दिया और उसके बूब्स दबाने लगा। फिर वो बोली कि मेरे राजा अब देर मत करो, अब मुझसे रहा नहीं जा रहा है। फिर में उठा और अपना 6 इंच लंबा और 3 इंच मोटा लंड उसकी चूत के ऊपर रखा, लेकिन उसकी चूत काफ़ी टाईट और सूखी थी। फिर मैंने चूत को हाथ से धीरे-धीरे रगड़ा और करीब 3 मिनट के बाद उसकी चूत गीली हो गई। फिर मैंने अपने लंड को हल्का सा धक्का दिया तो मेरा आधा लंड उसकी चूत में था। फिर वो बोली कि जल्दी से पूरा अंदर करो तो मैंने एक जोर का धक्का दिया तो वो चिला उठी, मार डाला ज़ालिम तूने, शायद उसके पति का इतना लंबा और मोटा नहीं था।

फिर कुछ देर के बाद मेरे झटको का वो भी साथ दे रही थी और कह रही थी कि आज मेरी जमकर चूत मारो। मैंने कितनी बार सोचकर तुम्हारे दोस्त से चुदवाया है आज तुम मुझको रियल में चोद दो, मेरी जान। अब में भी जोर-जोर से झटके मार रहा था और करीब 25 मिनट के इस खेल में वो 3 बार झड़ चुकी थी। अब में भी झड़ने वाला था। फिर मैंने कहा कि सुमन में झड़ने वाला हूँ तो उसने कहा कि मेरे अंदर ही निकाल दो तो मैंने कहा कि अगर कुछ हो गया तो उसने कहा कि कुछ नहीं होगा, में गोली खा लूँगी, लेकिन तुम अन्दर ही झड़ना। फिर में जोर-जोर से अपना लंड अंदर बाहर करने लगा और कुछ ही देर के बाद में उसके अंदर ही झड़ गया और अब हम बिल्कुल शांत थे, ये किसी तूफान के बाद की शांति थी। अब हम कुछ देर तक ऐसे ही लेटे रहे और फिर में उठा और उसको एक लिप किस किया।

अब 5 बज चुके थे तो वो बोली कि अब तुमको चलना चाहिए, लेकिन हाँ एक बात ध्यान रहे यह बात बस मेरे और तुम्हारे बीच ही रहे। तुम्हारे दोस्त को कुछ पता नहीं चलना चाहिए। फिर मैंने उससे वादा किया और हम दोनों एक दूसरे से लिपट गये। फिर में उठा और अपने कपड़े पहने। फिर वो भी बाथरूम में गई और उसके बाथरूम से निकलने के बाद में वहाँ से चला आया, लेकिन अब जब भी हमको मौका मिलता है तो वो मुझको फोन करके बुला लेती है और हम भरपूर सेक्स का मज़ा लेते है ।।

धन्यवाद …

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com