maa se shaadi karke gaand fadi

प्रेषक : शिवम् …

हैल्लो दोस्तों, ये एक सच्ची कहानी है और ये स्टोरी मेरी और मेरी माँ के बीच की कहानी है। मेरा नाम शिवम् है और अब में आपको बोर नहीं करते हुए सीधा अपनी स्टोरी पर आता हूँ। ये तब कि बात है जब में Ist ईयर में था और मेरी माँ का नाम रूपा है, वो दिखने में बहुत सेक्सी है और उनकी बॉडी भी बहुत सेक्सी है, जो भी उन्हें एक बार देख ले तो उनको चोदने का मन करेगा। मेरी माँ घर पर ज्यादातर नाईटी पहनती है और हम साउथ इंडियन है तो वो ज्यादातर नाईटी ही पहनती थी। मेरे पापा की एक एक्सिडेंट में मौत हो गई थी तो माँ तब से टेंशन में रहती है। मेरा भाई दुबई में जॉब करता है तो इसलिए घर पर में और मेरी माँ ही रहते है, माँ का साईज़ 42-38-40 है और बड़े-बड़े बूब्स, कमर और गांड भी बड़ी है, इसलिए मेरा लंड हमेशा उन्हें देखकर खड़ा हो जाता है।

एक दिन रविवार को हमको चर्च जाना था तो हम लेट हो गये। तब माँ जल्दी से बाथरूम में नहाने गयी, लेकिन वो जल्दी-जल्दी में बाथरूम का दरवाजा लॉक करना भूल गयी तो मैंने माँ को बिना कपड़ो के नंगा देख लिया और  में उनको देखकर दंग रह गया। फिर में उनके बारे में सोचकर अपना लंड हिलाने लगा। फिर एक दिन में कॉलेज से आया, तब घर में कोई नहीं था तो मैंने माँ को माँ करके बुलाया, लेकिन कोई आवाज नहीं आई। फिर में माँ के रूम के पास गया तो मैंने ऐसी चीज़ देखी जो में कभी नहीं भूल सकता। अब मेरी माँ ने अपनी नाईटी ऊपर की हुई थी और वो अपने हाथ की एक उंगली अपनी चूत में डालकर हिला रही थी, अब वो देखकर मैंने अपना लंड पकड़ लिया और माँ ने अपनी आँखे बंद की हुई थी।

उस दिन से मैंने माँ को चोदने का सोचा और माँ को पीछे से पकड़ लिया और माँ को पीछे से किस करने लगा। फिर माँ बोली कि शिवम् ये क्या है? क्या कर रहा है? छोड़ मुझे बोल रही थी तो में वहाँ से चला गया। फिर एक शाम को हम साथ में बैठकर कॉफी पी रहे थे। फिर मैंने माँ से बोला कि एक बात पूछूं माँ तो वो बोली कि हाँ पूछो। फिर मैंने बोला कि आप गुस्सा मत होना और सोचकर बोलना तो माँ ने बोला कि हाँ पूछो तो मैंने बोला कि आपको शादी नहीं करनी। फिर माँ गुस्सा होकर बोली क्यों में तेरे लिए प्रोब्लम हूँ क्या? फिर मैंने बोला कि नहीं माँ, लेकिन फिर भी आपकी खुशी भी कुछ है ना। फिर माँ ने बोला कि में अपने बेटे के साथ खुश हूँ। फिर मैंने बोला कि मेरा मतलब ये वाली खुशी नहीं। फिर माँ ने बोला कि तो  कौन सी ख़ुशी? तो मैंने बोला कि अरे माँ वो वाली। फिर माँ बोली कि कौन सी वाली शिवम्? तू क्या बोल रहा है? फिर मैंने बोला कि सेक्स माँ। फिर माँ ने कहा कि ये क्या बोल रहा है? तुझे अपनी माँ के साथ ऐसी बात करने में शर्म नहीं आती है।

फिर मैंने बोला कि लेकिन माँ मैंने आपको उस दिन बेडरूम में देख लिया था। अब माँ का चेहरा लाल हो गया था और वो बोली कि मुझे किचन में बहुत काम है, लेकिन आज में माँ को जाने नहीं देना चाहता था। फिर मैंने माँ का हाथ पकड़ा और बोला कि माँ सुनो आप एक औरत हो और आपकी भी कुछ इच्छा होगी। फिर माँ बोली कि हाँ बेटा, लेकिन अब मुझे ये सब अच्छा नहीं लगता, अब में एक माँ हूँ। फिर मैंने बोला कि लेकिन आई लव यू माँ तो माँ बोली कि लव यू टू बेटा। फिर मैंने कहा कि लव यू माँ और में आपको वो ख़ुशी देना चाहता हूँ। फिर माँ बोली कि क्या? ये तू क्या बोल रहा है? तू होश में तो है ना। फिर मैंने बोला कि में अपने पूरे होश में हूँ। फिर माँ बोली कि नहीं ये कभी नहीं हो सकता। फिर मैंने बोला कि में आपसे शादी करना चाहता हूँ और हमेशा आपके साथ रहना चाहता हूँ। फिर माँ बोली कि लेकिन ये नहीं हो सकता, सब क्या बोलेंगे? फिर मैंने बोला कि हाँ वो उनको सोचने दो में आपको मेरी पत्नी बनाकर खुश करना चाहता हूँ।

फिर माँ शरमाते हुए किचन में चली गयी तो मुझे लगा कि माँ मान गयी है और में भी उनके पीछे से गया और माँ को पकड़ लिया। फिर माँ बोली कि प्लीज शिवम् मुझे छोड़ दो, कोई आ जाएगा, ऐसा मत कर, तू ये क्या कर रहा है? लेकिन माँ आज में कुछ नहीं सुनने वाला हूँ और ऐसा बोलकर में माँ को किस करने लगा। अब माँ ने अपनी आँखे बंद कर ली थी और अब वो मेरा साथ देने लगी थी और अब मैंने माँ की नाईटी को ऊपर कर दिया था और अपनी एक उंगली उनकी चूत में डाल दी थी। अब माँ आहहह्ह्ह शिवम् हहम जल्दी-जल्दी बेबी बोल रही थी और फिर माँ का पानी बाहर आ गया और माँ शरमाते हुए वहाँ से चली गयी। अब में भी बहुत खुश हो गया था, लेकिन फिर माँ ने बोला कि ये शादी नहीं हो सकती। फिर मैंने बोला कि हम एक दूसरे को प्यार करते है तो शादी क्यों नहीं कर सकते? फिर माँ ने बोला कि नहीं मतलब नहीं तो फिर में वहाँ से चला गया।

फिर उस दिन रात को में डिनर के बाद माँ के बेडरूम में गया और माँ से बोला कि प्लीज माँ मान जाओ ना, मुझे कल बहुत मज़ा आया और आपको भी आया होगा ना, में वो रोज करना चाहता हूँ। फिर माँ बोली कि सच तुझे मज़ा आया। फिर मैंने बोला कि हाँ माँ बहुत मजा आया। फिर माँ बोली कि बेटा मुझे भी कल मजा आया था। फिर मैंने बोला कि तो शादी कर लेते है फिर करेगें, अगर आपको ऐसे करने मे नाजायज लगता है तो माँ ने अपना सर नीचे किया और बोली कि शादी कब है? ओह गॉड अब में तो वो सुनकर दंग ही रह गया। अब में बहुत खुश हो गया और माँ को पकड़कर किस करने लगा और उनके बूब्स दबाने लगा। अब माँ भी बहुत खुश थी, लेकिन माँ ने बोला कि बाकी शादी के बाद करेगें तो मैंने माँ से ओके कहा। फिर शादी के दिन मैंने माँ से बोला कि जल्दी आओ टाईम हो गया तो माँ बोली कि इंतजार करो आज हमारी शादी है और मुझे तैयार होने दो।

फिर मैंने बोला कि जान कितना भी तैयार हो जाओ रात को पूरा मेकअप मुझे ही निकालना है। फिर माँ बोली कि हाँ बेबी तुमको ही निकालना है। फिर मैंने बोला कि कम जान फास्ट तो माँ बोली कि रुको अभी बाहर आई। फिर माँ बाहर आई और अब माँ सफ़ेद साड़ी में मस्त लग रही थी। फिर मैंने बोला कि आज तो मेरी जान मस्त लग रही है। फिर माँ बोली कि हाँ, क्योंकि आज मेरी मेरे शिवम् के साथ शादी है ना। फिर हम चर्च आए और फादर ने सब किया और आखरी में माँ का हाथ मेरे हाथ में दिया और मैंने प्रॉमिस किया कि में सब खुशी दूँगा। फिर माँ की दोस्तों ने माँ से बोला कि तेरा पति बहुत मस्त लग रहा है, लगता है आज रात को तुझे सोने नहीं देगा तो माँ शरमा गयी और वहाँ से मेरे पास आई। फिर मेरे दोस्तों ने मुझसे बोला कि आज से तेरी माँ तेरी बीवी है, जमकर चोदना तो मैंने हाँ बोला। फिर माँ बोली कि घर चलते है, क्योंकि अब सब हमको छेड़ रहे थे और अब माँ को बहुत शर्म आ रही थी। दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर हम घर पहुँचे। फिर माँ ने बोला कि बेबी कहाँ हो? फिर मैंने बोला कि जान में बेडरूम में हूँ और यहाँ आ जाओ। फिर माँ लाल साड़ी पहनकर बेडरूम में आई तो मैंने बोला कि वाह मेरी जान आज बहुत मस्त लग रही है, चल आजा आज हमारी सुहागरात है। फिर माँ बोली कि हाँ बेबी, लेकिन मुझे कुछ     हो रहा है। फिर मैंने बोला कि क्यों? इससे पहले मेरा बाप का लंड लिया तो है तो माँ बोली कि क्यों ऐसी बात कर रहे हो शिवम्? फिर मैंने बोला कि क्यों माँ अच्छा नहीं लगा? तो माँ बोली कि नहीं जान तुम कुछ भी बोलो आज से में सब सुनूंगी। फिर मैंने बोला कि तो आजा आज तेरी बहुत गांड मारनी है। फिर माँ मेरे पास आई और बैठ गयी। फिर मैंने उन्हें लिप्स पर किस करना स्टार्ट किया। फिर मैंने उनकी साड़ी खोल दी और उन्हें किस करने लगा। अब माँ आहह्ह्ह्ह कर रही थी। फिर मैंने उनका ब्लाउज और ब्रा भी निकाल दी और उनके बूब्स दबा-दबाकर चूसने लगा। फिर में उनका पेटिकोट ऊपर करके किस करने लगा और निकाल दिया। अब माँ ने अपनी आँखे बंद कर ली थी और बेडशीट को ज़ोर से पकड़ लिया था।

फिर मैंने माँ की चूत पर अपना मुँह रखा और धीरे-धीर चाटने लगा तो माँ आह आह आ शिवम् प्लीज जल्दी करो बोल रही रही थी। फिर मैंने ज़ोर से किस किया और चाटना चालू किया। अब माँ से कंट्रोल नहीं हो रहा था और अब माँ आवाजे निकालने लगी, आइई जान और में अपनी उंगली उनकी चूत में डालकर हिलाने लगा और अंदर बाहर करने लगा। अब माँ भी चिल्लाने लगी थी। फिर माँ बोली कि जान मेरा पानी निकलने वाला है प्लीज पी जाओ। फिर मैंने बोला कि हाँ मादरचोद मुझे पीना है निकाल और उनकी चूत को चाटने लगा और फिर माँ ने अपना पूरा पानी निकाल दिया और मैंने पूरा पी लिया। फिर माँ ने शरमाते हुए पूछा कि जान पानी कैसा लगा? तो मैंने बोला कि अच्छा था बेबी अब मेरी बारी है। फिर माँ बोली कि ठीक है जान। फिर मैंने अपना 7 इंच का लंड माँ के हाथ में दिया तो माँ मेरे लंड को देखकर डर गयी।

फिर माँ बोली कि इतना बड़ा तो मैंने बोला कि हाँ अब तुझे ये पूरा लंड अपने मुँह में लेना है। फिर माँ धीरे-धीरे मेरे लंड को चूसने लगी। अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था और आज मेरा सपना पूरा हो रहा था। अब माँ ने धीरे-धीरे मेरा पूरा लंड अपने मुँह में ले लिया था। फिर में माँ का सर पकड़कर ज़ोर-ज़ोर से अंदर बाहर करने लगा और मैंने माँ को सांस लेने का टाईम भी नहीं दिया। फिर फाईनली मैंने माँ को बोला कि रूपा अब में अपना स्पर्म मुँह में डाल रहा हूँ चूस मेरा लंड तो माँ ने मेरा पूरा पानी पी लिया और उसे चाटकर पूरा साफ़ कर दिया। फिर मैंने माँ को बेड पर सुलाया और अपना लंड धीरे से माँ  की चूत पर रखा और धक्का मारने लगा। अब माँ ने अपनी आँखे बंद कर ली थी और वो हम्म्म्म आह्ह्हह्ह अहह करने लगी। फिर मैंने बोला कि अभी पूरा नहीं गया है जब पूरा जाएगा तब कितना चिल्लायेगी। फिर माँ बोली कि जान पूरा डालोगे तो भी में सह लूँगी।

फिर मैंने ज़ोर से धक्का मारना स्टार्ट किया, अब माँ अहह आइई माँ, शिवम् जान धीरे प्लीज, मुझे दर्द हो रहा है, प्लीज जान बहुत दर्द हो रहा है। फिर मैंने बोला कि चुप आज तो मुझे पूरे ज़ोर से करना है, तुझे आज से इसको सहना पड़ेगा। फिर माँ ने मुझे ज़ोर से पकड़ लिया और में ज़ोर-ज़ोर से उनकी चुदाई करने लगा। फिर थोड़ी देर के बाद मैंने अपना लंड पूरा बाहर निकालकर एकदम से उनकी चूत के अंदर पूरा डाल दिया और अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था। फिर माँ बोली कि प्लीज अब करो मुझे मज़ा आ रहा है और करो और करो, आज मेरी प्यारा बुझा दो। फिर मैंने बोला कि रूपा अब उल्टा सोना पड़ेगा, क्योंकि अब मुझे तुम्हारी गांड मारनी है। फिर रूपा ने बोला कि शिवम् आज नहीं प्लीज मुझे दर्द होगा, क्योंकि कभी भी तेरे बाप ने मेरी गांड नहीं मारी है। अब ये सुनकर में और खुश हो गया और बोला कि मुझे आज ही तेरी गांड मारनी है, पहले तो माँ ने नहीं नहीं किया, लेकिन में भी जिद्दी था।

फिर मैंने पहले उनकी गांड पर किस किया और थोड़ी क्रीम लगाई। फिर उन्हें बोला कि अब दर्द नहीं होगा। फिर माँ बोली कि प्लीज ध्यान से तो फिर मैंने अपना लंड थोड़ा सा माँ की गांड के अंदर डालना शुरू किया। फिर माँ बोली कि आह्ह्ह्ह शिवम् मैंने बोला था ना बहुत दर्द होगा, आऊ जान प्लीज आज नहीं, मुझे बहुत दर्द हो रहा है जान, प्लीज प्लीज नहीं और नहीं, लेकिन मैंने माँ की एक नहीं सुनी और मेरा पूरा लंड उनकी गांड के अंदर डाल दिया। अब माँ चिल्लाने लगी मार डाला मुझे आज, शिवम् प्लीज जान धीरे तो में और ज़ोर-ज़ोर से उनकी गांड मारने लगा और फिर 25 मिनट तक ऐसा चला। अब माँ भी बहुत थक गयी थी और मैंने अपना पूरा वीर्य माँ की चूत में डाल दिया और माँ को ज़ोर से हग करने और किस करने लगा और बोला कि मेरा सपना पूरा करने के लिए थैंक यू माँ। फिर माँ बोली कि आज में पहली बार इतनी खुश हूँ। मेरे शिवम् ने आज मुझे बहुत खुश किया और अब मुझे मेरी जान का लंड रोज रात को चाहिए, आई लव यू जान, मुझे रोज ऐसे हो चुदना है। फिर मैंने बोला कि हाँ माँ आज से तेरी गांड और चूत मेरी है और मेरा लंड तेरा है।

फिर 3 महीने निकलने के बाद माँ ने मुझसे बोला कि वो प्रेग्नेंट है और में बाप बनने वाला हूँ। में आज भी हफ्ते में 2-3 बार माँ की गांड मारता हूँ और अब मेरी माँ की गांड की साईज़ भी बड़ी हो गई है और अब वो मेरा लंड अच्छे से पूरा अपने मुँह में लेती है और अब हम बहुत खुश है ।।

धन्यवाद …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com