meri biwi ke dil ki baat

प्रेषक : गुमनाम …

हैल्लो दोस्तों, में आप सभी को चोदन डॉट कॉम पर अपनी एक सच्ची कहानी बताने जा रहा हूँ, जो दो महीने पहले हुई एक सच्ची घटना है, जिसमे मेरी पत्नी अपने बॉस से चुदी। दोस्तों मेरी पत्नी जिसका नाम मोनिका है। वो दिखने में बहुत ही सुंदर और एकदम मस्त है। उसके फिगर का साईज 36-38-40 है। वो थोड़ी सी मोटी जरुर है लेकिन वो बहुत हॉट सेक्सी और बिल्कुल दूध जैसी गोरी है। अभी हमारी शादी को एक साल हुआ है। उसकी उम्र करीब 24 साल है और हमने अपने घरवालों की मर्जी के बिना घर से दूर भागकर शादी की है और अब में अपनी आज की स्टोरी पर आता हूँ। मेरी पत्नी मोनिका एक बहुत ही हॉट सेक्सी दिखने वाली लड़की है, मेरा मतलब है कि उसे सेक्स चेट करना बहुत पसंद है और हमारी शादी से पहले भी वो इन्टरनेट पर बहुत सेक्स चेट किया करती थी और हमारी सेक्स लाईफ तब तक बहुत अच्छी तरह से चल रही थी कि तभी अचानक एक दिन मेरी वाईफ रात को चुदाई करवाते हुए मुझसे बोली कि काश तुम्हारा लंड थोड़ा बड़ा और मोटा होता। दोस्तों मेरे लंड का साईज 5 इंच है और फिर मैंने मोनिका से पूछा कि तुम यह क्या कह रही हो, क्या तुम्हे इससे चुदकर संतुष्टि नहीं मिलती जो तुम ऐसी बातें कर रही हो? तो वो बोली कि मैंने तो बस ऐसे ही बोल दिया। लेकिन मेरे दिल में उसकी वो बात अटक सी गई। में पूरी रात उसके वो कहे शब्द सोचता रहा कि उसको शायद मेरे लंड से बड़ा लंड चाहिए, जो उसकी चूत की प्यास बुझा सके और यही सब सोचकर ना जाने कब में सो गया और उसके अगली सुबह सब कुछ पहले की तरह था।

तो मैंने सोचा कि क्यों ना फिर से अपनी वाइफ के दिल की बात पता की जाए कि उसके दिल में क्या चल रहा था। पिछली रात तो उसने मुझे बस ऐसे ही कहकर टाल दिया था, लेकिन अब उससे उसके मन की पूरी बात मालूम होनी ही चाहिए। तो मैंने बहुत सोच विचार करके एक झूटी मैल आई डी बनाई और मोनिका से चेट करने लगा। पहले तो कुछ दिनों तक सब कुछ एकदम ठीक-ठाक चल रहा था लेकिन अब हम धीरे धीरे एक अच्छे दोस्त बन गये और तब मैंने उससे उसकी शादीशुदा जिन्दगी के बारे में पूछा तो उसने मेरे बहुत बार पूछने पर बताया और तब में यह बात जानकार बड़ा दुखी हुआ कि वो तो एक लंबा, मोटा लंड लेना चाहती है और उसका पति उसे कभी भी खुश नहीं कर पाता और वो अब तक प्यासी है। तो यह सिलसिला रोज़ चलता रहा और में हर रोज़ उसकी चुदाई करता और वो रोज़ मुझे चेट पर उसके पति की चुदाई के बारे में बताया करती। लेकिन में अब बहुत हैरान था कि वो कैसे किसी अंजान को अपनी चुदाई के बारे में सब कुछ बता रही है? और अब में धीरे धीरे उससे सेक्स चेटिंग भी करने लगा और आज जब मोनिका घर पर आई तो मैंने उसे पीछे से पकड़ लिया। अपनी बाहों में लिया और किस करने लगा वो गरम हो गयी और में उसकी चूत चाटने लगा।

दोस्तों मुझे चूत चाटना बहुत अच्छा लगता है। वो अब तड़प रही थी और फिर मैंने मोनिका के बचे हुए कपड़े भी उतार दिए और अब वो बिल्कुल नंगी थी। फिर हमने एक बार जमकर चुदाई की और सो गये। लेकिन तभी मुझे महसूस हुआ कि वो मुझसे और भी चुदाई करवाना चाहती है लेकिन अब मुझमें चुदाई करने की बिल्कुल हिम्मत नहीं थी और फिर उसके अगले दिन वो ऑफिस चली गयी और में एक अंजान बनकर उससे सेक्स चेट करने लगा। चेट करते करते उसने अपना वेब केमरा शुरू कर लिया और मुझे अपने बूब्स दिखाने लगी। वो बड़े ज़ोर ज़ोर से उनको मसल रही थी, दबा रही थी और उनको निचोड़ रही थी। वो एकदम जोश से भरी हुई थी तभी मेरी नज़र उसके पीछे पड़ी। वहां पर उसका बॉस खड़ा हुआ था जो कि एक 40 साल का लंबा छड़ा आदमी था और मोनिका मुझसे चेट करते हुए, अपने केबिन का दरवाजा अंदर से बंद करना भूल गयी थी और अब उसने अपना टॉप उतार दिया था और वो इतनी गरम हो चुकी थी कि अब वो अपनी चूत में उंगली करने लगी। वो हर बात से एकदम अनजान थी। उसे नहीं पता था कि उसके पीछे उसका बॉस उसका यह सब काम देख रहा था। तभी बॉस ने उससे बोला कि तुम यह क्या कर रही हो? तो मोनिका एकदम से डर गई और रोने लगी और वो अपना टॉप पहनने लगी लेकिन तभी बॉस ने उसका हाथ पकड़ लिया और उसे अपनी बाहों में भरकर किस करने लगा। मोनिका की तो जैसे लाटरी ही लग गई। तो बॉस ने मोनिका के सभी कपड़े एक एक करके झट से उतार दिए और अब वो सिर्फ़ ब्रा और पेंटी में थी। दोस्तों में आपको क्या बताऊँ? वो क्या मस्त लग रही थी। उसे देखकर मेरा भी लंड खड़ा हो गया और अब बॉस मोनिका को दीवार के सहारे खड़ा करके उसके बूब्स को मसलने लगा, जिसकी वजह से मोनिका के मुहं से सेक्स की मधुर आवाज बाहर निकल रही थी। वो ज़ोर ज़ोर से सिसकियाँ ले रही थी और चुदाई के लिए तड़पने लगी।

मोनिका : अहह उह्ह्ह्हह्ह प्लीज ऐसा मत करो सर यह सब अच्छा नहीं है।

बॉस : ठीक है, अगर तुम यही चाहती हो तो में बाहर चला जाता हूँ।

मोनिका : क्या अब आप मुझे प्यासी छोड़कर जाओगे सर, आज आप मुझे अच्छी तरह से चोदो।

फिर मोनिका ने बॉस के सभी कपडे उतार दिए।

मोनिका : सर यह आपका लंड है या किसी गधे का लगा रखा है (दोस्तों बॉस का लंड करीब 9 इंच लंबा और 3 इंच मोटा था और वो दिखने में बिल्कुल किसी जानवर के लंड की तरह दिख रहा था) दोस्तों ये कहानी आप चोदन डॉट कॉम पर पड़ रहे है।

फिर मोनिका ने अब बिना देरी किए लंड को अपने मुहं में ले लिया। बॉस के मुहं से आवाज़े निकलने लगी और करीब दस मिनट के बाद बॉस के लंड से वीर्य निकल गया, जिसे मोनिका ने बड़े ही प्यार से चाट चाटकर साफ किया और अब बॉस ने मोनिका की चूत को चाटना शुरू किया तो मोनिका बिन पानी की मछली की तरह तड़पने लगी। सुरेन्द्र (बॉस का नाम) में अब पागल हो रही हूँ, मुझे ऐसे मत तड़पाओ आआहह उह्ह्ह्ह चोद डालो मुझे, आईईई प्लीज अब फाड़ डालो मेरी चूत को और फिर सुरेन्द्र ने मोनिका की 15 मिनट तक चूत चाटी, इस बीच मोनिका दो बार झड़ चुकी थी और अब सुरेन्द्र का लंड दोबारा से लोहे जैसा कड़क हो गया। तो उसने मोनिका को अब टेबल पर लेटा दिया और अपना मोटा लंड उसकी चूत पर रखा।

मोनिका : सुरेन्द्र प्लीज थोड़ा आराम से करना, अब यह चूत तुम्हारी है, इसका ख्याल तुम्हे ही रखना है।

सुरेन्द्र : रांड़ तुझे तो में आज ऐसे चोदूंगा कि तू आज के बाद सिर्फ़ मुझसे ही चुदना चाहेगी।

फिर यह बात बोलते बोलते सुरेन्द्र ने मोनिका की चूत में एक जोरदार झटका मारा और उसका आधा लंड, चूत की दीवार को चीरता हुआ अंदर चला गया। लेकिन मोनिका ज़ोर से चिल्ला उठी रोक ऊईईईई में अह्ह्ह्हह्ह नहीं ले सकती, प्लीज इसे बाहर निकालो उफ्फ्फ्फफ्फफ में मर जाउंगी। तो सुरेन्द्र ने एक बार लंड बाहर निकालने का नाटक किया और फिर एक और ज़ोरदार झटका मार दिया और अब मोनिका चिल्ला ना सकी क्योंकि सुरेन्द्र ने अपने होंठो से उसके होंठ बंद कर लिए थे। मोनिका की आँखो से आँसू और चूत से खून बाहर निकलने लगा। सुरेन्द्र दस मिनट ऐसे ही लेटा रहा और अब मोनिका कुछ शांत हुई और फिर सुरेन्द्र ने धीरे धीरे झटके लगना शुरू किया, लेकिन धीरे धीरे मोनिका ने भी सुरेन्द्र का साथ देना चालू कर दिया। दोस्तों मुझे उस माइक्रो फोन पर चूत और लंड की मधुर आवाज़ और वो भी मेरी पत्नी की, मुझे सुनकर मुझे बड़ा मज़ा आ रहा था। उनके साथ साथ अब में भी जोश से भर गया और अपने लंड को हिलाने लगा। अब मोनिका भी उछल उछल कर सुरेन्द्र का साथ देने लगी और अब उनकी चुदाई को बीस मिनट से भी ज्यादा हो चुके थे और इस बीच मोनिका 4 बार झड़ चुकी थी लेकिन सुरेन्द्र अभी तक नहीं झड़ा था। उसके लंड में अभी भी जोश बाकी था और अब अचानक से सुरेन्द्र के झटको की स्पीड तेज़ हो गयी और मोनिका भी पागलों की तरह बोलने लगी। अह्ह्ह्हह जान और बहुत तेज़ चोदो मुझे अह्ह्हह्ह्ह्हह्ह ओए ज़ोर से धक्के दो मेरी चूत पर, में अब आज से तुम्हारी रंडी हूँ अह्ह्ह चोदो उह्ह्ह्हह्ह मुझे और चोदो फाड़ दो मेरी चूत।

तो सुरेन्द्र अब झड़ने वाला था और मोनिका भी। सुरेन्द्र ने मोनिका से पूछा कि अब में क्या करूं, इसे कहाँ निकालूं? तो मोनिका बोली कि प्लीज इसे मेरी चूत के अंदर ही निकाल दो, मेरी चूत तुम्हारा रस पीना चाहती है और दो मिनट बाद सुरेन्द्र ने अपना रस मोनिका की चूत में छोड़ दिया और फिर थककर मोनिका के ऊपर लेट गया। 15 मिनट के बाद दोनों उठे और अपने अपने जिस्म को साफ किया। मोनिका ने कपड़े पहने और सुरेन्द्र को एक लंबा किस दिया। आज मोनिका सुरेन्द्र के साथ उसकी गाड़ी में घर पर आई और वो आज मुझे बहुत खुश नजर आ रही थी। तो मैंने उससे उसकी खुशी का कारण पूछा तो वो मुझसे बोली कि आज उसकी एक बहुत पुरानी इच्छा पूरी हो गयी। तो मैंने उससे पूछा कि वो क्या? तो वो बोली कि अपनी इच्छा ऐसे कभी किसी को नहीं बताते और ज़ोर ज़ोर से हंसने लगी और अब वो रोज़ सुरेन्द्र की गाड़ी में घर पर आने लगी। वो उसकी चुदाई से बहुत खुश रहने लगी और अब में कभी कभी उसे चोदता हूँ। लेकिन वो मेरी चुदाई में ज्यादा रूचि नहीं दिखाती क्योंकि वो मेरे लंड से बड़ा लंड हर रोज लेकर आती है। उसे अब मनचाहा लंड मिल गया है, जिससे वो बहुत खुश है ।।

धन्यवाद …

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com