म्यूज़िक शो में लड़की की गांड चोदी

म्यूज़िक शो में लड़की की गांड चोदी

प्रेषक : राहुल …

हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम राहुल है और मेरी उम्र 24 साल है। में दिल्ली में रहता हूँ और एम.बी.ए कर रहा हूँ। दोस्तों ये कहानी सितम्बर की है, दिल्ली के सेंट्रल पार्क में म्यूज़िक शो हो रहे थे और वहाँ बहुत भीड़ होती है। हाँ तो 28 सितम्बर को एक म्यूज़िक शो हो रहा था, जिसमें बहुत अच्छे-अच्छे और नामी कलाकार आ रहे थे। तो मेरे एक दोस्त ने टिकट खरीदा, लेकिन वो किसी कारणवश नहीं जा सका, तो उसने टिकट मुझे दे दिया।

फिर जब शो का टाईम हुआ तो में वहाँ पहुँचा, ओह माई गॉड क्या शानदार तैयारी थी? स्टेज रंग बिरंगा, लाइटिंग बेहतरीन, पार्क खचाखच भरा था। फिर प्रोग्राम शुरू हुआ और अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था अब कलाकार आ रहे थे और गाना गाकर जा रहे थे। अब धीरे-धीरे पब्लिक सीट से उठकर स्टेज से सटकर डांस करने लगी थी, तो में भी अपने आपको नहीं रोक सका और में भी डांस करने लगा। अब लड़के लड़कियां सभी डांस कर रहे थे। अब धीरे-धीरे वहाँ भीड़ बढ़ने लगी थी और अब लड़कियों के उछलते बूब्स देखकर में पहले ही बहुत गर्म हो गया था। अब लोग एक दूसरे से टकराने लगे थे, फिर धीरे-धीरे स्टेज के पास भीड़ बढ़ गयी और सभी एक दूसरे से सटे सिर्फ़ गानों का मज़ा उठा रहे थे और शोर मचा रहे थे।

फिर तभी अचानक से पीछे वालों ने मुझे धक्का मारा, तो में एक लड़की से जा टकराया। फिर मैंने पहले तो उसे सॉरी बोलना चाहा, लेकिन ये देखकर चुप रह गया कि उसे धक्का लगने का कोई ऐतराज़ नहीं था। अब वो अपने आप में मस्त होकर शोर मचा रही थी। फिर मैंने उसे ध्यान से देखा तो उसकी उम्र यही 22-23 साल होगी, मस्त बूब्स कोई 34 साईज के होंगे और उसने स्कर्ट और टॉप पहन रखा था और उसकी पूरी टाँगे नंगी थी। अब मेरा लंड सिहरने लगा था, अब में उससे बिल्कुल सटा था और मेरे पीछे बहुत सारे लोग एक दूसरे को धक्का देते हुए स्टेज के पास आना चाहते थे। अब वो लड़की बिल्कुल स्टेज को पकड़े थी और स्टेज उसकी गर्दन तक आ रहा था और में उसके ठीक पीछे खड़ा था। अब मेरा लंड उसकी गांड की दरारों में रगड़ मार रहा था और अंगड़ाईयाँ ले रहा था। अब में भी पूरा गर्म था, लेकिन क्या करूँ? ये समझ में नहीं आ रहा था।

अब इतने सारे लोग और बीच में में और वो मस्त लड़की अपनी गांड पर मेरे लंड की रगड़ ले रही थी और मेरी तरफ देखती भी नहीं थी। फिर मैंने हिम्मत करके उसके बूब्स को छुआ, तो वो कुछ नहीं बोली। फिर में धीरे-धीरे सबकी नजरे चुराकर उसे मसलने लगा, अब मुझे डर भी लग रहा था कि कहीं कोई देख ना ले, फिर अलग ही हंगामा हो जाएगा, लेकिन किस्मत मेरे साथ थी। अब स्टेज उसकी गर्दन तक था और उसकी बॉडी किसी को नजर नहीं आ रही थी, वाउ क्या चूचीयाँ थी? अभी भी लिखते समय मेरा लंड खड़ा हो गया है, टाईट-टाईट और बड़ी बड़ी, ओह माई गॉड। अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा था मेरा बस चलता तो में उसे अभी चोद देता, लेकिन क्या करें? फिर अचानक से उसने पीछे मुड़कर मेरी तरफ देखा और मुस्कुरा दी, तो में तो उसी समय मर गया। अब मुझे उसकी रज़ामंदी मिल गयी थी, अब वो भी इन्जॉय कर रही थी।

फिर मैंने उसके टॉप में अपना एक हाथ डालना चाहा तो उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और नीचे अपनी चूत पर रख दिया, उसने स्कर्ट के नीचे पैंटी पहन रखी थी। फिर में कुछ देर तक तो उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को सहलाता रहा और फिर धीरे से अपना एक हाथ उसके अंदर डाल दिया, ओह्हह वहाँ तो स्वर्ग था मुझे लगा अगर स्वर्ग कहीं है तो यहीं है। इतना मज़ा मुझे पहले कभी नहीं आया था। फिर खैर तो जैसे ही मैंने अपना एक हाथ उसकी चूत पर रखा, तो वो सिहर गयी, लेकिन वो मेरी तरफ नहीं देखती थी और ना ही में उसकी तरफ देखता था। अब हम शोर में शामिल थे और अब कलाकार आ रहे थे और जा रहे थे और हम अलग ही गाना गा रहे था। उसकी चूत पर छोटी-छोटी झांटे थी शायद उसने कुछ दिन पहले ही शेव किया था। फिर मेरी उंगली उसकी दरारों की तरफ बढ़ी, तो उसने अपनी दोनों टांगो को भींच लिया, तो में रुक गया। फिर उसने अपनी दोनों टांगो को थोड़ा सा फैलाया, आहह उसकी चूत से पानी की धारा बह रही थी और बिल्कुल गीला-गीला सा था। अब मेरी उँगलियों पर उसकी चूत का चिपचिपा रस लग रहा था।

फिर मैंने अपनी एक उंगली उसके छेद में डाली और आगे पीछे करने लगा, तो एक बार फिर उसने मेरे हाथ को पकड़कर मेरी ऊँगली को उसकी चूत के छेद से बाहर निकाल ली और अपने चूत के दाने पर रख दिया और थोड़ा रगड़कर बताया कि यहाँ रब करो, तो में वैसा ही करने लगा। अब मेरा लंड पैंट के अंदर खड़ा- खड़ा झटके लेकर दर्द हो रहा था। फिर मैंने उसका हाथ पकड़कर अपने लंड पर रख दिया। अब वो भी शायद यही चाहती थी तो उसने तुरंत मेरा लंड पकड़ लिया और मेरी पैंट के ऊपर से ही सहलाने लगी। फिर मैंने तुरंत अपनी पैंट की चैन खोली और मेरा पूरा लंड उसके हाथ में दे दिया। फिर वो एक बार फिर मेरी तरफ देखकर मुस्कुराई और फिर से अपनी एक्टिंग में लग गयी। अब वो मेरे लंड का साईज नाप रही थी और फिर उसे धीरे-धीरे सहलाने लगी। अब में उसकी खुली चूत को सहला रहा था और वो मेरा खुला लंड सहला रही थी।

अब में भी उसको देखकर मुस्कुरा उठा था और अब वहाँ सब उछल रहे थे और यहाँ हमने अपने लिए स्वर्ग ढूढ लिया था। अब वो मेरे लंड को सहलाए जा रही थी और फिर मुझे ऐसा लगा कि में कहीं उसके हाथ में ही झड़ ना जाऊं। अब में उसकी चूत मारना चाहता था तो मैंने उसका हाथ हटाया और उसकी स्कर्ट को ऊँचा किया और अपने लंड को उसकी गांड में सटा दिया, तो वो समझ गयी। फिर उसने भी मेरी मदद की और अपनी पैंटी को थोड़ा सा नीचे करके अपनी दोनों टाँगे फैला दी। फिर मैंने अपने लंड को उसकी चूत पर लगाने की कोशिश की, लेकिन में सफल नहीं हो पा रहा था। अब एक तो भीड़ की धक्का मुक्की और ऊपर से पीछे से चूत में लंड डालना जबकि लड़की पूरी तरह झुकी ना हो। फिर एक बार फिर से उसने मेरी मदद की और मेरे लंड को पकड़कर अपनी चूत के छेद पर रखा और एक ज़ोर का धक्का दिया, ऊऊऊहहहह अब मेरा 9 इंच लंबा और 4 इंच मोटा लंड पूरा उसकी चूत में एक बार में ही चला गया था। फिर जैसे ही उसकी चूत में मेरा लंड गया तो वो सिसकने लगी। अब मैंने उसको अपनी बाहों में जकड़ लिया था, ताकि वो मेरा लंड बाहर निकाल ना सके, किसी को क्या पता था कि वो क्यों सिसक रही है? अब में उछल-उछलकर उसकी चूत में अपना लंड पूरा-पूरा अंदर बाहर करने लगा था, ताकि किसी को शक ना हो।

फिर कुछ देर के बाद उसको मेरे लंड की चुदाई में मज़ा आने लगा। फिर क्या था? अब में खड़ा हो गया, लेकिन वो उछल-उछलकर मेरा लंड अपनी चूत में लेने लगी थी। आखिर 9 इंच लंबा लंड है तो लंबे लंड का कुछ तो फायदा था ही। फिर इतने में गाना ख़त्म हो गया, तो तब वो भी नीचे आ गयी, ताकि क़िसी को कोई शक ना हो। अब में धीरे-धीरे अपना लंड उसकी चूत में खड़े-खड़े अंदर बाहर कर रहा था। अब वो सिहर रही थी ऊऊऊऊहह, आआआअममम। फिर जैसे ही गाना शुरू हुआ, तो वो तेज़ी से उछलने लगी। अब में समझ गया था कि वो झड़ने वाली है और फिर 1 मिनट के बाद वो झड़ने लगी तो उसने अपनी गांड पीछे की तरफ कर दी, ताकि मेरा ज़्यादा से ज़्यादा लंड उसकी चूत में घुस जाए।

अब वो शांत हो गयी थी और अब मेरा मन उसकी गांड मारने को कर रहा था तो मैंने अपना लंड जो कि उसकी चूत के पानी से तर हो रहा था और बाहर निकालकर उसकी गांड के छेद पर रखा। फिर वो समझ गयी कि में उसकी गांड मारना चाहता हूँ तो उसने धीरे से बोला कि प्लीज आराम से डालना तुम्हारा बहुत लंबा है और मोटा भी है धीरे-धीरे डालना, में एक बार में पूरा नहीं ले सकती। फिर मैंने ओके कहा और फिर से उसकी गांड के छेद पर अपना लंड रखा। फिर जैसे ही वो उछली, तो मैंने भी नीचे से अपना लंड सेट कर लिया और फिर जैसे ही वो नीचे आई तो मेरा आधा लंड उसकी गांड में चला गया, तो वो दर्द के मारे उछलने लगी। अब वो दर्द की वजह से जितना उछलती, तो मेरा लंड उतना ही उसकी गांड में जा रहा था। फिर जब मेरा लंड उसकी गांड में पूरा चला गया तो में उसकी चूचीयाँ पड़कर उसकी निप्पल दबाने लगा और सहलाने लगा।

फिर कुछ देर बाद फिर से गाना ख़त्म हो गया और वो फिर से खड़ी हो गयी और में फिर से धीरे-धीरे अपना लंड उसकी गांड में अंदर बाहर करने लगा। सच बताऊँ दोस्तों उस वक़्त की चुदाई का मज़ा ही कुछ और मिल रहा था और उसकी 36 साईज़ की गांड में मेरा लंड उछल कूद कर रहा था। अब तो उसको और ज़्यादा मजा आने लगा था और वो ज़ोर-ज़ोर से मेरे लंड पर उछलने लगी थी। फिर करीब 45 मिनट तक उछलना रुकना, उछलना रुकना चलता रहा और अब वो वक़्त भी आ गया जब में झड़ने वाला था तो मैंने उसको कसकर पकड़ लिया और खुद भी उछलने लगा। फिर मैंने 10-15 ज़ोरदार धक्के मारे तो वो इससे चीखने लगी और में उसकी चूचीयाँ पकड़कर झड़ने लगा। फिर जब में झड़ा तो उसको भी मेरा गर्म पानी अपनी गांड में महसूस हुआ और उसने भी अपनी गांड पूरी की पूरी पीछे कर दी ताकि में ठीक से झड़ सकूँ और फिर में उसकी गांड में ही झड़ गया।

फिर मैंने झड़ने के बाद अपना लंड बाहर निकाला और अपने रुमाल से अपना लंड साफ किया और लंड साफ करने के बाद मैंने उसकी चूत और गांड दोनों अपने रुमाल से साफ की और फिर मैंने अपनी पैंट की चैन लगाई और उसने अपने कपड़े ठीक किए। अब हम दोनों एक दूसरे की तरफ खुश होकर देख रहे थे। फिर में उससे बोला कि मेरा नाम राहुल है और आपका? तो वो हंसकर बोली कि सोनिया और फिर उसके बाद हम शो देखते रहे और बातें करते रहे। फिर मैंने उसका हाथ पकड़ा और पार्क से बाहर आ गये। दोस्तों वो कॉलेज में पढ़ती है और हॉस्टल में रहती है और वो जयपुर की रहने वाली है। फिर हमने एक दूसरे को चूमकर विदा ली। फिर उसने मेरे कान में कहा कि तुम्हारा वीर्य अभी भी मेरी गांड से निकल रहा है, तो मैंने उसे अपना रुमाल दिया और फिर मिलने का वादा करके चला आया ।।

धन्यवाद …

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Facebook Auto Publish Powered By : XYZScripts.com